भूपेन हजारिका की आवाज का जादू आज भी कायम, ‘दिल हूम हूम करे’ बढ़ा देता है दिल की धड़कन

भूपेन हजारिका का सदाबहार गाना. (फोटो साभार:Network 18)

असमिया भाषा के संगीतकार और गीतकार भूपेन हजारिका (Bhupen Hazarika) का फिल्म ‘रूदाली’ (Rudaali) में गाया गाना ‘दिल हूम हूम करे’ आज भी बेहद पॉपुलर है.

  • Share this:
    मुंबई. कुछ आवाजें ऐसी होती हैं जिसे बरसों बाद सुनने पर भी ताजगी बरकरार रहती है. कुछ ऐसे ही थे फेमस सिंगर-म्यूजिशियन भूपेन हजारिका (Bhupen Hazarika). कहते हैं कि भूपेन खुद ही लिखते, खुद ही कंपोज करते और खुद ही गाने गाते भी थे. मल्टी टैलेंटेड भूपेन मूल रूप से असमिया भाषा के संगीतकार-गीतकार और गायक रहें, लेकिन उन्होंने हिंदी में कई फेमस गाने दिए हैं. इन्हीं में से एक है ‘रूदाली’ (Rudaali) फिल्म का गाना ‘दिल हूम हूम करे’ (Dil Hoom Hoom Kare) . फिल्म में इस गाने का मेल-फीमेल दोनों वर्जन है.

    1993 में रिलीज हुई फिल्म ‘रूदाली’ के इस गाने को भूपेन हजारिका और लता मंगेशकर ने गाया था. गीत गुलजार का है तो संगीत भी भूपेन का ही है. जिस खूबसूरती से गुलजार साहब ने इसे लिखा उसी खूबसूरती से भूपेन ने गाया और संगीतबद्ध किया. गाने में पानी और बादल के साथ-साथ दिल के अंदर मचे तूफान और आंखों में उमड़ते समंदर को बेहद खूबसूरत शब्दों में लयबद्ध किया गया है. शायद यही वजह है कि इतने बरसों बाद भी यह गाना खूब सुना और गाया जाता है.

    बता दें कि ‘रुदाली’ फिल्म से ही कल्पना लाजमी ने बॉलीवुड में बतौर डायरेक्टर काम करना शुरू किया था. इस फिल्म की सफलता में डिंपल कपाड़िया की एक्टिंग के साथ-साथ इस गाने का भी बड़ा योगदान है.



    भूपेन हजारिका के संगीत और आवाज में लोक संस्कृति की महक सहज ही दिखाई-सुनाई दे जाती है. असमी गायक का राजस्थानी म्यूजिक पर गाया ‘दिल हूम हूम करे’ में भी वही पीड़ा सुनाई दे जाती है जो असमी गाने में थी. खबरों की मानें तो पहले भूपेन ने असमी गीत ‘बूकू हूम हूम करे...’  गाया था फिर इसे हिंदी वर्जन में उतारा गया. भाषा भले ही बदल गई लेकिन गाने की आत्मा वही बनी रही.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.