सावन का पहला सोमवार, मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, बोलबम से गूंजे शिवालय

News18India.com
Updated: July 25, 2016, 10:46 AM IST
सावन का पहला सोमवार, मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु, बोलबम से गूंजे शिवालय
NEW DELHI, INDIA - JULY 24: View of Rashtrapati Bhavan Museum Phase 2 during the Press Preview before its inauguration by President Pranab Mukherjee and Prime Minister Narendra Modi on Monday (25 July, 2016), on July 24, 2016 in New Delhi, India. Built at a cost of Rs. 80 crore and in 19 months, it will be the country?s only underground museum, and boast of state-of-the-art virtual reality exhibitions. A small section of the museum was opened a year ago. The completed museum will be open to visitors from October 2. The inauguration of phase-II of the museum will complete the Rashtrapati Bhavan Museum Complex, which comprises the Stables Museum (phase -I), the Garages Museum (phase -II) and the Clock Tower, which will be home to the visitors reception centre, cafeteria and souvenir shop. (Photo by Raj K Raj/Hindustan Times via Getty Images)
News18India.com
Updated: July 25, 2016, 10:46 AM IST
नई दिल्ली। सावन महीने के पहले सोमवार पर समूचा देश आज शिवमय हो गया है। देशभर के शिव मंदिरों में श्रद्घालुओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। सुरक्षा के मद्देनजर शासन-प्रशासन की तरफ से विशेष व्यवस्था की गई है। देश भर के मंदिरों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सावन महीने के प्रथम सोमवार पर देश के सभी शिव मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। श्रद्घालुओं ने मंदिरों के अलावा अपने घरों में भी पूजा-अर्चना के लिए विशेष तैयारियां की हैं।

मंदिरों के आस पास पूजा सामग्री जैसे धतूरा, बेल-पत्र, फूल-माला और प्रसाद आदि की दुकानें सज गईं हैं। सावन के पहले सोमवार को लिए देशभर के शिवमंदिरों में पूजा अर्चना की विशेष तैयारियां की गई हैं। सावन में वाराणसी के काशी विश्वनाथ का विशेष महत्व है तो इसके दर्शन के लिए देर रात से भक्त कतारों में लगे नजर आए।

शिव के दर्शन भक्त आसानी से कर पाएं इसको ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर में कई खास इंतजाम किए गए हैं। मंदिर में श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए जगह-जगह पर बैरिकेडिंग की व्यवस्था की गई है। भक्तों को समय-समय पर रोककर भगवान के दर्शन के लिए बारी-बारी से मुख्य द्वार तक भेजा जा रहा है ताकि भगदड़ की स्थिति नहीं होने पाए यही नहीं मंदिर की सुरक्षा को लेकर भी खास इंतजाम किए गए हैं।
First published: July 25, 2016
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर