आचार्य देवव्रत 22 जुलाई को लेंगे राज्‍यपाल की शपथ, बोले- महान हस्तियों की धरा गुजरात में काम करना सौभाग्‍य

गुजरात के नए राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि गुजरात के प्रति एक अलग भाव है, क्योंकि वह हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और सरदार बल्लभ भाई पटेल जैसी महान हस्तियों की धरती है.

Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:54 AM IST
आचार्य देवव्रत 22 जुलाई को लेंगे राज्‍यपाल की शपथ, बोले- महान हस्तियों की धरा गुजरात में काम करना सौभाग्‍य
अब गुजरात के राज्‍यपाल का कार्यभार संभालेंगे आचार्य देवव्रत.(फाइल फोटो)
Rachna Upadhyay
Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:54 AM IST
गुजरात के नवनियुक्त गवर्नर आचार्य देवव्रत ने न्‍यूज़ 18 से खास बातचीत में कहा कि गुजरात का गवर्नर बनाए जाने पर सबसे पहले केंद्रीय नेतृत्व का धन्यवाद करना चाहूंगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति महोदय और गृह मंत्री अमित शाह ने मुझ पर जो विश्वास जताया है, उसका मैं आभारी हूं. एक छोटे राज्य से विशाल प्रदेश में सेवा करने का अवसर प्रदान किया है. जबकि वह (आचार्य देवव्रत ) 22 जुलाई को गुजरात के राज्‍यपाल का कार्यभार संभालेंगे.

गुजरात की धरा पर काम करना सौभाग्य
गुजरात के नए राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि गुजरात के प्रति एक अलग भाव है, क्योंकि वह हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और सरदार बल्लभ भाई पटेल जैसी महान हस्तियों की धरती है. जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात को दुनिया के लिए एक मॉडल की तरह विकसित किया है. भारत विशाल देश है और यहां की संस्कृति परंपरा आपस में मिलती-जुलती है. हिमाचल के लोग सरल और सीधे हैं वैसे ही गुजरात के लोग भी सरल और कर्मठ है.

गुजरात के लोग धार्मिक हैं

गुजराती में राज्यपाल ने कहा कि गुजरात में कई महान हस्तियों का जन्म हुआ है इसके साथ ही जिस तरीके से गुजरात में नशा मुक्ति है. इससे कारण यहां लोगों में बेहद धार्मिकता भाव है. गुजरात का खान पान अपने आप में खास है. उन्होंने कहा कि हम गुजरात के लोगों और गुजरात की सरकार के साथ मिलकर यहां के कामों को आगे बढ़ाएंगे. हम समरसता में विश्वास करते हैं और आपस में एकता भाव रहना चाहिए. गुजरात में स्वामी दयानंद सरस्वती का जन्म हुआ, जिन्‍होंने समाज के उत्थान के लिए, अछूतों के कल्याण के लिए और राष्ट्रवादी सोच के लिए एक जन जागरण का काम किया. आज इसी विचारधारा की भी है.

पठन-पाठन में बेहद रुचि

गुजरात के नए राज्यपाल आचार्य देवव्रत की पढ़ने में बेहद रुचि है. उन्होंने बताया कि मैं हरियाणा प्रांत में तीन गुरुकुल चलाता हूं, लिहाजा पठन-पाठन का मुझे बेहद शौक है. ऑर्गेनिक खेती में भी मेरी रुचि है. गुजरात में शिक्षा के स्तर को और भी अधिक उन्नत करने के लिए काम करेंगे. ऑर्गेनिक खेती को भी विकसित करने के लिए काम होगा, क्योंकि कम पानी में भी संभव है.
Loading...

आपको बता दें कि आचार्य देवव्रत ने 12 अगस्त 2015 को हिमाचल के राज्यपाल का कार्यभार संभाला था. आचार्य देवव्रत ने राजभवन में बिट्रिश काल से निभाई जा रही रस्मों पर रोक लगाई और राजभवन में हवन यज्ञ करवाने की नई रिवायत शुरू की. अब वह गुजरात की जिम्‍मेदारी संभालने को तैयार हैं.

ये भी पढ़ें: छोटे कारोबारियों के लिए बड़ी खबर! बदला टैक्स से जुड़ा नियम

 इन पांच बैंक में FD कराने पर मिलेगा सबसे ज्यादा मुनाफा!
First published: July 21, 2019, 10:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...