Home /News /gujarat /

25 दिनों से करवट नहीं बदल सकी थी 300 किलो की महिला, बड़ी मुश्किल से ले जाई गईं अस्पताल

25 दिनों से करवट नहीं बदल सकी थी 300 किलो की महिला, बड़ी मुश्किल से ले जाई गईं अस्पताल

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

Rajkot: 50 साल से ज्यादा उम्र की इस महिला का वजन 300 किलो ग्राम है. पिछले दिनों राजकोट में एक एनजीओ की टीम ने इन्हें बड़ी मुश्किल से बाहर निकाल कर हॉस्पिटल तक पहुंचाया.

    राजकोट. मोटापा (Obesity) इंसान को परेशान कर देता है. कई बार ज्यादा मोटापा मौत को बुलावा देती है. पिछले दिनों एक ऐसा ही मामला गुजरात के राजकोट से आया. यहां एक महिला मोटापे के चलते 25 दिनों से करवट भी नहीं बदल सकी थी. सरलाबेन नाम की महिला का वजन इतना बढ़ गया था कि वो हिलडुल भी नहीं पाती थीं. 50 साल से ज्यादा उम्र की इस महिला का वजन 300 किलो ग्राम है. पिछले दिनों राजकोट में एक एनजीओ की टीम ने इन्हें बड़ी मुश्किल से बाहर निकाल कर हॉस्पिटल तक पहुंचाया.

    अंग्रेजी अखबार अहमदाबाद मिरर के मुताबिक इस महिला के साथ उनका सिर्फ 13 साल का एक बेटा था जो उनकी देख रेख करता था. महिला के पति दुबई में मजदूरी का काम करते हैं और वो पिछले 10 साल से घर नहीं आए थे. सरलाबेन का वज़न कब और कैसे बढ़ गया घरवालों को पता ही नहीं चला.

    दुबई से आया फोन
    सति सेवा नाम के एक NGO ने बताया कि उनके पास रविवार को दुबई से कॉल आया. उन्होंने अपनी पत्नी के बारे में बताया. साथ ही उन्होंने उन्हें किसी तरह अस्पताल पहुंचाने के लिए मदद मांगी. उनके पति ने बताया कि वो कोरोना पाबंदियों के चलते फिलहाल भारत वापस नहीं आ सकते. इसके बाद सरलाबेन को वहां से निकाला गया.

    ये भी पढ़ें:- एस्ट्राजेनेका वैक्सीन से हो रहा है ब्लड क्लॉट? भारत में कमेटी करेगी जांच

    फायर ब्रिगेड की गाड़ी से हॉस्पिटल
    सरलाबेन को घर से निकालना बेहद मुश्किल काम था. पहले एनजीओ के लोगों ने तीन अलग-अलग एम्बुलेंस मंगवायी. लेकिन वो किसी में भी फिट नहीं हो सकीं. इसके बाद 10 लोगों की मदद से उन्हें लिफ्ट के सहारे फायर ब्रिगेड की गाड़ी में किसी तरह चढ़ाया गया. फिलहाल उनका इलाज राजकोट के एक सरकारी अस्पताल में चल रहा है.

    Tags: Gujrat news, Obesity

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर