गुजरात में बुजुर्ग ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में कहा- मुझे ब्लैक फंगस का डर

 ब्लैक फंगस के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ब्लैक फंगस के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Black Fungus News: पीड़ित ने एक सुसाइड नोट छोड़ है जिसमें उन्होंने आत्महत्या के कारण का उल्लेख करते हुए आशंका जताई है कि उन्हें ब्लैक फंगस हो सकता है

  • Share this:

अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) के अहमदाबाद (Ahmedabad) में कोरोना वायरस  (Coronavirus In India)से उबरे 80 वर्षीय बुजुर्ग ने ब्लैक फंगस (Black fungus) से संक्रमित होने के डर से कथित रूप से खुदकुशी कर ली. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी. म्यूकोर मायकोसिस (ब्लैक फंगस) एक गंभीर संक्रमण है जो राज्य में कोविड-19 के कई मरीजों में पाया गया है. पुलिस के मुताबिक, पीड़ित अपनी पत्नी के साथ शहर के पाल्दी इलाके के अमन अपार्टमेंट में रहते थे.

पाल्दी थाने के निरीक्षक जे एम सोलंकी ने बताया कि बुजुर्ग ने बृहस्पतिवार को अपने अपार्टमेंट की छत पर कथित तौर कीटनाशक पी लिया और शनिवार को एक निजी अस्पताल में उनकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि बुजुर्ग कुछ वक्त पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे लेकिन वह इससे उबर चुके थे. उन्हें ब्लैक फंगस नहीं था लेकिन उनके मुंह में छाले हो गए थे जिसके बाद वह डर गए.

Youtube Video

पीड़ित ने एक सुसाइड नोट छोड़ है जिसमें उन्होंने आत्महत्या के कारण का उल्लेख करते हुए आशंका जताई है कि उन्हें ब्लैक फंगस हो सकता है, क्योंकि वह कोविड-19 से ठीक हुए हैं और उन्हें मुधमेह भी है. सोलंकी ने बताया कि पुलिस ने दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज किया है और घटना की तहकीकात कर रही है.
गुजरात में 1,681 नए मामले

उधर गुजरात में कोविड-19 के 1,681 नए मामले सामने आए हैं. राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. राज्य में इस समयावधि में 18 लोगों की मौत हो गई. एक दिन में मौत का यह आंकड़ा सात अप्रैल के बाद से अब तक का सबसे कम है.

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,09,169 हो गई, जबकि स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 7,66,991 हो गई. वहीं अब तक 9,833 मरीजों की मौत हो चुकी है.गुजरात में स्वस्थ होने की दर 94.79 फीसदी है. यहां फिलहाल 32,345 मरीजों का उपचार चल रहा है.




राज्य में एक दिन में 2,00,317 लोगों को टीके की खुराक दी गई, जिसमें से 1,12,381 लोग 18 से 44 साल के बीच के हैं. इसके साथ ही राज्य में अब तक 1,70,94,620 खुराक दी जा चुकी हैं. (भाषा इनपुट के साथ)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज