अहमदाबाद: घर पर कराया कोरोना का इलाज, फर्जी डॉक्टर ने ठग लिए डेढ़ लाख रुपये

15 दिनों तक लगातार इलाज के बाद भी जब मेघा के पति ठीक नहीं हुए तो उन्होंने अपने रिश्तेदारों को डॉक्टर नरेंद्र के बारे में बताया. (सांकेतिक तस्वीर)

15 दिनों तक लगातार इलाज के बाद भी जब मेघा के पति ठीक नहीं हुए तो उन्होंने अपने रिश्तेदारों को डॉक्टर नरेंद्र के बारे में बताया. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus: नरेंद्र पंड्या नाम के इस डॉक्टर ने मेघा को बताया कि वो घर पर आकर उनके पति का इलाज कर देंगे और वो कुछ ही दिनों में बेहतर हो जाएंगे.

  • Share this:

अहमदाबाद. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से देशभर में इन दिनों हर तरफ तबाही का मंजर है. इस बीच हर कोई आपदा की इस घड़ी में अवसर की तलाश में है. ऐसा ही एक मामला गुजरात से सामने आया है. राजधानी अहमदाबाद में एक शख्स को कोरोना हो गया. लिहाज़ा उनकी पत्नी ने घर पर ही एक डॉक्टर की मदद से इलाज शुरू किया. लेकिन 10 दिनों बाद परिवार को पता चला कि जो डॉक्टर घर पर इलाज के लिए आ रहे थे वो फर्जी थे. उनके पास MBBS की कोई डिग्री नहीं थी. इस फर्जी डॉक्टर ने परिवार से डेढ़ लाख रुपये भी ले लिए. अब ये फर्जी डॉक्टर पुलिस की गिरफ्त में है.

अहमदाबाद के खोखरा इलाके में रहने वाले मेघा सिरसत के पति विशाल एक प्रिटिंग प्रेस में काम करते हैं. विशाल को कुछ दिनों से बुखार था. इसके बाद सिटी स्कैन से पता चला कि उन्हें कोरोना हो गया है. उनके पड़ोस में भी एक और शख्स को कोरोना हो गया था. उनके घर पर इलाज के लिए एक डॉक्टर और नर्स आते थे. लिहाज़ मेघा ने भी अपने पति के इलाज के लिए डॉक्टर बात की.

क्या है पूरा मामला?

नरेंद्र पंड्या नाम के इस डॉक्टर ने मेघा को बताया कि वो घर पर आकर उनके पति का इलाज कर देंगे और वो कुछ ही दिनों में बेहतर हो जाएंगे. इसके बाद इस डॉक्टर ने रीनाबेन नाम के एक नर्स के साथ घर पर ही विशाल का इलाज शुरू किया. हर दिन दवाई और इंजेक्शन के नाम पर 10 हज़ार रुपये लिए जाते थे. नरेंद्र इलाज के लिए 3-4 दिनों में सिर्फ एक बार उनके घर पर आते थे.


ऐसे पकड़ा गया डॉक्टर

15 दिनों तक लगातार इलाज के बाद भी जब मेघा के पति ठीक नहीं हुए तो उन्होंने अपने रिश्तेदारों को डॉक्टर नरेंद्र के बारे में बताया. बाद में जब नरेंद्र से उनके रिश्तेदारों ने बातचीत की तो उन्हें शक हुआ. उनसे MBBS की डिग्री मांगी गई. बाद में पता चला कि वो फर्जी डॉक्टर है. इसके बाद पुलिस को बुलाया गया. फर्जी डॉक्टर और नर्स दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज