गुजरात में कम कोविड-19 टेस्‍ट को लेकर डॉक्‍टरों ने उठाए सरकार पर सवाल, हाईकोर्ट में सुनवाई कल

गुजरात में कम कोविड-19 टेस्‍ट को लेकर डॉक्‍टरों ने उठाए सरकार पर सवाल, हाईकोर्ट में सुनवाई कल
कम कोविड 19 टेस्‍ट को लेकर डॉक्‍टरों ने उठाए गुजरात सरकार पर सवाल.

अहमदाबाद नर्सिंग होम एसोसिएशन एक्‍जीक्‍यूटिव कमेटी के सदस्‍य डॉ. वसंत पटेल ने कहा कि गुजरात सरकार (Gujarat Government) कोविड-19 टेस्‍ट (Covid 19 test) को काफी हल्‍के में ले रही है. इसे लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले गुरुवार को 1.58 लाख से ऊपर पहुंच गए हैं. साथ ही देश में 4531 लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच देश के कुछ राज्‍य कोविड-19 (Covid-19) से सर्वाधिक प्रभावित हैं. इनमें गुजरात (Gujarat) भी शामिल है. राज्‍य में गुरुवार दोपहर तक कोविड-19 संक्रमण के मामलों की संख्‍या 15,205 हो गई है. साथ ही मौत का आंकड़ा बढ़कर 938 हो गया है. इस बीच अहमदाबाद (Ahmedabad) के डॉक्‍टरों ने कोविड-19 से जंग में गुजरात सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए हैं. इसे लेकर अहमदाबाद मेडिकल एसोसिएशन ने गुजरात हाईकोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई है. इस पर शुक्रवार को सुनवाई होगी.

अहमदाबाद नर्सिंग होम एसोसिएशन एक्‍जीक्‍यूटिव कमेटी के सदस्‍य डॉ. वसंत पटेल ने इस बारे में जानकारी दी. उन्‍होंने कहा कि आईसीएमआर की गाइडलाइंस के मुताबिक किसी भी मरीज की सर्जरी के पहले उसका कोविड-19 टेस्‍ट कराना जरूरी है. लेकिन गुजरात सरकार कोविड-19 टेस्‍ट को काफी हल्‍के में ले रही है. वे कम संख्‍या में कोविड-19 टेस्‍ट क्‍यों कर रहे हैं, ये लोगों और डॉक्‍टरों की समझ से अब भी परे हैं.

 
डॉ. वसंत पटेल ने बताया, 'मैंने बुधवार को एक पेशेंट की डिलीवरी के लिए अप्‍लाई किया था. इसे 24 घंटे से अधिक हो चुके हैं. लेकिन अभी तक मुझे उसके कोविड-19 टेस्‍ट की अनुमति नहीं मिली. अहमदाबाद के सभी डॉक्‍टर इस परेशानी से जूझ रहे हैं. इसके कारण मरीज परेशान हालत में हैं. यह गुजरात सरकार की खराब नीति का नतीजा है.'डॉ. वसंत पटेल ने जानकारी दी कि कम संख्‍या में कोविड-19 टेस्‍ट करने को लेकर अहमदाबाद मेडिकल एसोसिएशन ने गुजरात हाईकोर्ट में एक याचिका लगाई है. याचिका को अहमदाबाद नर्सिग होम एसोसिएशन ने भी समर्थन दिया है. हाईकोर्ट में इस याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई होगी.




उन्‍होंने बताया कि गुजरात, खासकर अहमदाबाद में स्थित गैर कोविड अस्‍पतालों में प्राइवेट डॉक्‍टरों के पास कोविड-19 लक्षण वाले कई मरीज आते हैं. लेकिन गुजरात सरकार के पास उन कोविड-19 लक्षण वाले संदिग्‍धों की टेस्टिंग को लेकर कोई नीति नहीं है, जिन पर हमें पॉजिटिव होने का अंदेशा होता है.

गुजरात सरकार के अनुसार राज्‍य में कोविड-19 के मामले दोगुने होने का समय 16 दिनों से बढ़कर 24.84 दिन हो गया है. राज्य में कोविड-19 संक्रमितों की सक्रिय केस की संख्‍या 6,720 है, जिनमें से 98 की हालत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है.

News18 Polls: लॉकडाउन खुलने पर ये काम कबसे और कैसे करेंगे आप?


यह भी पढ़ें:-

IMD Alert! भारत में अब 1 जून को दस्तक देगा मानसून, टिकी है पूरी अर्थव्यवस्था

देश में 30 ग्रुप कर रहे COVID-19 वैक्सीन पर काम, 20 समूहों के प्रयास बेहतर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading