भरूच : टाउते तूफान के बीच शादी की ज़िद पर अड़ा रहा परिवार, पुलिस को शेल्टर होम में कराना पड़ा इंतजाम

गुजरात में टाउते चक्रवाती तूफान के कारण आश्रय गृह में शादी के बाद नवविवाहित जोड़ा.

टाउते चक्रवाती तूफान (Tauktae Cyclone) की आशंका के बीच तालुका और अलीबत के पांच गांवों के लगभग 500 प्रभावित लोगों को गांव के स्कूलों में स्थानांतरित किया गया था. इन्‍हीं में एक जोड़े की शादी थी, जिसकी व्‍यवस्‍था पुलिस ने आश्रय गृह में कराई.

  • Share this:
    भरूच. गुजरात (Gujarat) में एक तरफ टाउते चक्रवाती तूफान (Tauktae Cyclone) के भीषण नजारे देखने को मिल रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ तूफान की आशंकाओं के बीच हंसोत तालुका के कांटियाजल गांव में नवविवाहितों की मदद कर प्रशासन और पुलिस ने मानवता की अनूठी मिसाल कायम की है. तूफान की आशंका के बीच तालुका और अलीबत के पांच गांवों के लगभग 500 प्रभावित लोगों को गांव के स्कूलों में स्थानांतरित किया गया था. बताया जाता है कि तूफान से प्रभावित लोगों में से एक जोड़े की शादी थी. ये बात जब पुलिस और प्रशासन को लगी तो उन्‍होंने आश्रय गृह में ही शादी का इंतेजाम कराया और शादी संपन्‍न कराई.

    गुजरात में आए टाउते तूफान के चलते कई गांवों को पहले ही खाली करा दिया गया था. सुरक्षा के लिहाज से तालुका और अलीबत के पांच गांवों को भी खाली करा दिया गया था. गांव के सभी लोगों को कांतियाजला के शेल्टर होम में रखा गया था. यहां से कल एक परिवार घर जाने की जिद्द करने लगा. घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन और पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस के अधिकारियों को बताया गया कि शादी होने के कारण परिवार वापस अपने घर जाना चाह रहा है. इसके बाद पुलिस के अधिकारियों ने उन्‍हें समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन उसने शादी करने की ठान ली थी.

    इसे भी पढ़ें :- अहमदाबाद: 'टाउते' तूफान से गिरी पांच मंजिला इमारत, बाल-बाल बचे लोग

    हंसोत के प्रभारी पुलिस निरीक्षक केएम चौधरी, पैरोल दस्ते के उपनिरीक्षक बीडी वाघेला और विशेषअभियान समूह के उप निरीक्षक एम. आर सकुरिया को स्थिति संभालने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. उन्‍हें निर्देश दिए गए थे कि हर कीमत पर तूफान के गुजरने तक ग्रामीणों को शिविर में रखा जाए. परिवार की जिद्द को देखते हुए पुलिस अधिकारियों ने जोड़ों की आश्रय गृह में शादी कराने का वादा किया. प्रशासन और पुलिस की मौजूदगी में हंसोत तालुका के कांत्याजल निवासी रेखाबेन नरसिम्हा भाई राठौर ने सरोली के ओलपाड निवासी नीलेशभाई रतिलाल राठौर से शादी कर ली. इस दौरान कोरोना नियमों का पालन कराया गया. परिवार के सभी सदस्‍यों ने मास्‍क पहना और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन किया.