अपना शहर चुनें

States

गुजरात: वडोदरा चुनाव में कांग्रेस ने किया 'डेटिंग डेस्टिनेशंस' का वादा, BJP ने बताया 'लव जिहाद'

कांग्रेस ने जारी किया मैनिफेस्‍टो.  (Pic- congress)
कांग्रेस ने जारी किया मैनिफेस्‍टो. (Pic- congress)

Vadodara Elections: वडोदरा इकाई के पार्टी महासचिव सुनील सोलंकी ने कहा, 'कांग्रेस चुनावी समय के दौरान मतदाताओं को लुभाने के लिए विचारहीन टिप्पणी करने के लिए जानी जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 10:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. गुजरात (Gujarat) के वडोदरा (Vadodara municipal elections) में रविवार को नगर निगम चुनाव होने हैं. इसके लिए कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में युवाओं, छात्रों, कपल्‍स और कॉरपोरेट्स के लिए 'कॉफी शॉप्स के साथ डेट डेस्टिनेशंस' का वादा किया है. इस पर बीजेपी ने नाराजगी जाहिर की है. इन कॉफी शॉप के अलावा, कांग्रेस ने प्रत्येक ज़ोन के लिए इंग्लिश मीडियम स्‍कूल और आधुनिक स्‍कूल खोलने का वादा किया है. इसके साथ ही महिलाओं की किटी पार्टियों के लिए मुफ्त पार्टी हॉल देने का भी वादा किया है.

कांग्रेस का घोषणापत्र 'आइकॉनिक वडोदरा' के वादे पर आधारित है. कांग्रेस का कहना है कि अगर चुनाव बाद वो सत्‍ता में आती है तो इसके बाद वो अल्‍ट्रा मॉडर्न स्‍कूल खोलेगी, जिसमें निशुल्‍क शिक्षा दी जाएगी. हर जोन में इंग्लिश मीडियम स्‍कूल भी खोले जाएंगे. इससे स्‍कूल से छोड़ने वाले बच्‍चों की दर में कमी आने की बात कही गई है. इसके साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का भी वादा किया है. साथ ही कम से कम प्रॉपर्टी टैक्‍स स्‍लैब किए जाने का भी वादा किया गया है.





इस बीच कांग्रेस के घोषणापत्र को इतालवी संस्कृति से प्रभावित बताते हुए बीजेपी ने कहा कि उसने सांस्कृतिक शहर वडोदरा के लोगों को नाराज किया है. वडोदरा के बीजेपी अध्यक्ष विजय शाह ने कहा कि यह लव जिहाद को बढ़ावा दे सकता है. हम इसके खिलाफ हैं.

बीजेपी ने अभी तक अपना घोषणा पत्र जारी नहीं किया है. बीजेपी ने डेटिंग स्थलों को दुर्भावनापूर्ण बताते हुए कांग्रेस को लताड़ लगाई है. वडोदरा इकाई के पार्टी महासचिव सुनील सोलंकी ने कहा, 'कांग्रेस चुनावी समय के दौरान मतदाताओं को लुभाने के लिए विचारहीन टिप्पणी करने के लिए जानी जाती है. लेकिन मतदाता और विशेष रूप से युवा सही गलत जानते हैं. क्या डेटिंग हमारी संस्कृति का हिस्सा है? कांग्रेस के पास भारतीय समाज के मूल्यों के लिए कोई सम्मान नहीं है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज