गुजरात के इस किसान ने खेत में उगाये 'काले गेहूं', जानिए इसके फायदे

मेहसाणा में उगाए गए काले गेहूं

मेहसाणा में उगाए गए काले गेहूं

Black Wheat: काले गेहूं को खाने से कई फायदों के साथ उत्पाद और इसकी कीमत और भी अधिक हो जाती है. काले गेहूं में सामान्य गेहूं की तुलना में 60 प्रतिशत अधिक आयरन होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 4:21 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) के मेहसाणा (Mehsana) जिले के नंदासन के एक युवा और उत्साही किसान ने अपने पांच बीघा खेत में एक अनोखा खेती शुरू की है. विपुल पटेल नाम के इस किसान ने इंटरनेट की मदद से काले गेहूं की खेती की. पटेल को इंटरनेट पर सर्च करने पर पता चला कि गुजरात में किसान काले गेहूं की खेती बहुत कम करते हैं. फिर उन्होंने यह भी देखा कि इस काले गेहूं को खाने के कई शारीरिक फायदे भी हैं.

काले गेहूं में एंथोसायनिन नामक वर्णक ज्यादा मात्रा में होता है. सामान्य गेहूं में एंथोसायनिन सामग्री केवल पांच पीपीएम होती है, लेकिन काले गेहूं में यह लगभग 100 से 200 पीपीएम होती है. एंथोसायनिन के अलावा, काले गेहूं में ज़िंक और आयरन में भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है. काले गेहूं में सामान्य गेहूं की तुलना में 60 प्रतिशत अधिक आयरन होता है. इनमें बैंगनी और ब्लूबेरी फल शामिल हैं. कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि भले ही इस गेहूं का रंग काला है पर इसकी रोटी अच्छी होती है.

ये भी पढ़ें- रविवार को क्‍यों कम हुआ कोरोना वैक्‍सीन का टीकाकरण? जानिये इसकी वजह

सामान्य गेहूं से ज्यादा महंगे हैं काले गेहूं के बीज
काले गेहूं को खाने से कई फायदों के साथ उत्पाद और इसकी कीमत और भी अधिक हो जाती है. सामान्य गेहूं के नियमित उत्पादन के बाद इसके बीज 300 से 400 रुपये तक बिकते हैं. जबकि काले गेहूं के बीज 2,500 से 3,000 रुपये में मिलते हैं. काले गेहूं की मांग के चलते इसे 1300 से 1500 प्रति 20 किलो के उच्च मूल्य पर बेचा जाता है. इस प्रकार, उत्पादन के बाद भी, कीमत जितनी अधिक होगी, आय उतनी ही अधिक होती है. विपुल पटेल के इस खेत को देखने और काले गेहूं से जुड़ी जानकारियां लेने के लिए आसपास के किसान भी आते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज