लाइव टीवी

कोरोना के चलते आसाराम ने मांगी थी जमानत, गुजरात हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 7:19 PM IST
कोरोना के चलते आसाराम ने मांगी थी जमानत, गुजरात हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका
जोधपुर जेल में बंद है आसाराम.

कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के खतरे का हवाला देते हुए आसाराम (Asaram) ने हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका लगाई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 7:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. नाबालिग के यौन शोषण के दोषी आसाराम (Asaram) को सोमवार को गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High court) से झटका लगा है. कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) को देखते हुए आसाराम ने हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका लगाई थी. जोधपुर जेल में सजा काट रहे आसाराम ने जेल के अन्‍य कैदियों के साथ जेल में रिहाई के लिए भूख हड़ताल भी की थी.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक आसाराम ने हाईकोर्ट में याचिका में कहा था कि अगर वह जेल में ही रहता है तो उसको कोरोना संक्रमण होने का खतरा रहेगा. ऐसे में उसे जमानत दी जाए. 84 साल के आसाराम को अक्‍टूबर 2013 को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद नाबालिग के यौन शोषण के एक अन्‍य मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद उसे जोधपुर की जेल में बंद कर दिया गया था.

याचिका में आसाराम ने अपनी अधिक उम्र का हवाला देते हुए कहा है कि उसे कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा अधिक है. उसके वकील ने भी कहा, 'चूंकि आसाराम की उम्र अधिक है, ऐसे में उसे खतरा अधिक है. इसलिए उसे टेम्‍परेरी रूप से जमानत दी जाए.' वकील ने सुप्रीम कोर्ट के उस निर्देश का भी हवाला दिया, जिसमें कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकारों से जेल में बंद कैदियों को छोड़ने के लिए कहा था.



आसाराम की जमानत याचिका का हाईकोर्ट में विरोध किया गया. राज्‍य सरकार को भी सुनने के बाद जस्टिस बेला त्रिवेदी ने आसाराम की जमानत याचिका चार महीने के लिए खारिज कर दी.



If convicted prisoners are being released by Government then the falsely found guilty and 85 year old ailing Asaram Bapu should be released first



बता दें कि बीजेपी नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने भी आसाराम की रिहाई की मांग की थी. उन्‍होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा था, 'अगर सजायाफ्ता कैदियों को सरकार की ओर से रिहा किया जा रहा है, तो गलत तरीके से दोषी पाए गए और 85 वर्षीय बीमार आसाराम बापू को पहले रिहा किया जाना चाहिए.'

यह भी पढ़ें:- लॉकडाउन के बीच Jio बना यूज़र्स का सहारा, वैलिडिटी बढ़ाने के साथ दिया 100 मिनट 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Ahmedabad से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 6:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading