अपना शहर चुनें

States

निकाय चुनावः संभावनाएं तलाशने गुजरात पहुंचे सिसोदिया, बोले- AAP ही विकल्प

गुजरात में पार्टी के लिए संभावने तलाशने पहुंचे मनीष सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा एक ही विकल्प हैं.  (File Photo)
गुजरात में पार्टी के लिए संभावने तलाशने पहुंचे मनीष सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा एक ही विकल्प हैं. (File Photo)

Gujarat municipal Election 2021: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि दिल्ली में देश और विदेशों से लोग आकर देखते हैं कि लोकल हेल्थ का मॉडल क्या हो सकता है. ये बदलाव केवल 5 साल में आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2021, 9:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गुजरात निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने भी हाथ आजमाने का फैसला किया है. इसी क्रम में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया राज्य के दौरे पर पहुंचे. बीजेपी पर निशाना साधते हुए मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि गुजरात के लोग बीजेपी का सफाया चाहते हैं, लेकिन उनके पास विकल्प नहीं है. आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि गुजरात (Gujarat) में लोग भाजपा से नाराज होकर कांग्रेस को वोट देते हैं और कांग्रेस के नेता जीतकर भाजपा में शामिल हो जाते हैं. बीजेपी को हराना कांग्रेस के वश में नहीं है. लोग गुजरात से और निकाय चुनावों में भाजपा को हटाना चाहते हैं, इसलिए आम आदमी पार्टी की विकल्प है. सिसोदिया ने गुरुवार को पार्टी के लिए प्रचार करते हुए अहमदाबाद में रोड शो किया.

बता दें कि गुजरात में इसी महीने निकाय चुनाव होने हैं. शुक्रवार को कई कार्यकर्ता बीजेपी से टिकट न मिलने से नाराज होकर आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए. गुजरात में पार्टी के लिए संभावने तलाशने पहुंचे मनीष सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा एक ही विकल्प हैं. लोग कहते हैं कि कांग्रेस के तो टिकट भी भाजपा कार्यालय में ही बंटते हैं. इसलिए लड़ाई भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में देश और विदेशों से लोग आकर देखते हैं कि लोकल हेल्थ का मॉडल क्या हो सकता है. ये बदलाव केवल 5 साल में आया है. गुजरात के 25 साल के बीजेपी के शासन में किसी एक शहर के लोग नहीं कह सकते कि हम अपने प्राइमरी हेल्थ सिस्टम पर निर्भर हैं.

उन्होंने कहा कि गुजरात में जान बूझकर सरकारी स्कूलों की हालत खराब कर दी गई है. इसके बाद जिनके ऊपर सरकारी स्कूल चलाने की जिम्मेदारी थी, उन्होंने अपने स्कूल खोल दिए. किसान आंदोलन में गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर से डीटीसी बसें वापस बुलाने पर भी दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया ने प्रतिक्रिया दी. मनीष सिसोदिया ने कहा कि आखिर दिल्ली पुलिस डीटीसी की बसें क्यों इस्तेमाल करे.

बता दें कि दिल्ली पुलिस गृह मंत्रालय के अंतर्गत काम करती है. मनीष सिसोदिया ने कहा कि देश भर में किसान परेशान है. बीजेपी किसानों के हित को ताक पर रखकर आखिर कुछ पूंजीपूतियों की बात क्यों मान रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज