अपना शहर चुनें

States

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लिए अप्रैल 2021 से सीधी ट्रेन, मुंबई और सूरत से भी चलेगी रेल

पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने बताया कि केवडिया को मुंबई-दिल्ली से रेल से जोड़ने का प्रस्ताव है.
पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने बताया कि केवडिया को मुंबई-दिल्ली से रेल से जोड़ने का प्रस्ताव है.

रेलवे (Railway) को उम्मीद है कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) तक ट्रेन चलने से मुंबई, वापी, वलसाड और सूरत से प्रतिदिन 1000 से ज्यादा यात्री मिलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 26, 2020, 9:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल की स्मृति में बने स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देश के प्रमुख शहरों से रेल के माध्यम से सीधे जोड़ने का प्रस्ताव मंजूर कर लिया गया है. इसी प्रस्ताव के तहत सूरत से केवड़िया स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लिए ट्रेन अप्रैल 2021 तक शुरू हो सकती है. पश्चिमी रेलवे ने केवड़िया में स्टेशन का निर्माण कर दिया है. साथ ही वड़ोदरा तक 50 किलोमीटर लंबी रेल लाइन भी बिछ गई है.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक चांदोद से डभोई के बीच लाइन का सीआरएस निरीक्षण भी हो चुका है. रेलवे को उम्मीद है कि मुंबई, वापी, वलसाड और सूरत से प्रतिदिन 1000 से ज्यादा यात्री मिलेंगे. अप्रैल से पहले मुंबई-केवड़िया ट्रेन चलाने की योजना है. खबरों के मुताबिक वलसाड-वापी और सूरत से रोज सैकड़ों लोग स्टैच्यू ऑफ यूनिटी घूमने जाते हैं.

अब बस, निजी वाहन के अलावा ट्रेन का भी विकल्प मिलेगा. निजी वाहन से जाने में प्रति व्यक्ति 3000 रुपये, जबकि बस से 300 से 400 रुपये किराया लगता है. पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने बताया कि केवडिया को मुंबई-दिल्ली से रेल से जोड़ने का प्रस्ताव है.

केवडिया स्टेशन और 50 किलोमीटर लंबी लाइन का काम लगभग पूरा है. सीआरएस जनवरी में पूरा हो जाएगा. फिर रेल बोर्ड का निर्देश मिलते ही ट्रेन ही चला देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज