होम /न्यूज /व्यवसाय /नई वंदेभारत ट्रेन को पीएम कल दिखाएंगे झंडी, इस रूट पर दौड़ेगी ट्रेन

नई वंदेभारत ट्रेन को पीएम कल दिखाएंगे झंडी, इस रूट पर दौड़ेगी ट्रेन

एक साल में 74 और वंदेभारत ट्रेन आएंगी.

एक साल में 74 और वंदेभारत ट्रेन आएंगी.

रेलवे मंत्रालय नई वंदेभारत ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलाई जा सकती है. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नई वंदेभारत को झ ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्‍ली. नई वंदेभारत ट्रेन चलने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी शुक्रवार को इसे झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. यह ट्रेन दो प्रमुख शहरों के बीच दौड़ेगी. इससे पूर्व दो वंदेभारत ट्रेन दिल्‍ली से वाराणसी और दिल्‍ली से कटरा के बीच चल रही हैं. तीसरी वंदेभारत ट्रेन पहली दोनों को बहुत अलग है. एक साल के अंदर इस तरह की 75 वंदेभारत ट्रेन देशभर में दौड़ेंगी.

नई वंदेभारत ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलाई जा रही है. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी नई वंदेभारत ट्रेन को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. रेलवे मंत्रालय में डीजी पीआईबी योगेश बवेजा ने बताया कि गुजरात के गांधी नगर से सुबह 10.30 बजे वंदेभारत ट्रेन मुंबई के लिए रवाना होगी.

गौरतलब है कि दोनों शहरों के बीच रोजाना चलने वाले यात्रियों की संख्‍या खूब है. दोनों व्‍यावसायिक शहरों के बीच सुबह जाकर शाम को वापस लौटने वाले यात्रियों की सुविधा को ध्‍यान में रखते इस रूट पर वंदेभारत ट्रेन चलाई जा रही है.

ये भी पढ़ें: देश में पहली बार समुद्र के नीचे इतनी लंबी सुरंग में दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, गहराई सुनकर आप भी चौंक जाएंगे

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए सुरक्षित

वंदेभारत ट्रेन में हवा से आने वाले कीटाणु, बैक्‍टेरिया और अन्‍य वायरस को दूर रखने के लिए कैटेलिटिक अल्ट्रा वायलेट एयर प्यूरीफिकेशन सिस्टम लगाया गया है. यह सिस्‍टम नए डिजाइन में वायु शुद्धिकरण के लिए रूफ माउंटेड पैकेज यूनिट (आरएमपीयू) स्‍थापित है. केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन (सीएसआईओ), चंडीगढ़ की सिफारिश पर इस सिस्टम को आरएमपीयू के दोनों सिरों में स्थापित किया गया है, जिससे ताजी हवा और वापस आ रही हवा के माध्यम से आने वाले कीटाणुओं, बैक्टीरिया, वायरस युक्त हवा को फिल्टर और साफ किया जा सके. जिससे ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को स्‍वस्‍थ्‍य माहौल में यात्रा कर सकें.

एक वर्ष में 75 वंदेभारत ट्रेन आएंगी

भारतीय रेलवे की 15 अगस्‍त 2023 से पहले (एक साल में) 75 वंदेभारत ट्रेन ट्रैक पर उतारने की तैयारी है. रेलवे मंत्रालय के अनुसार नई ट्रेन के निर्माण के बाद बची 74 वंदेभारत ट्रेनों का प्रोडक्‍टशन जल्‍दी-जल्‍दी किया जाएगा. पहले शुरू के दो-तीन माह में प्रतिमाह दो से तीन वंदेभारत का निर्माण किया जाएगा. इसके बाद प्रतिमाह प्रोडक्‍टशन बढ़ाकर 6 से 7 तक किया जाएगा. इस तरह अगले वर्ष तक 75 या इससे अधिक ट्रेनें तैयार कर ली जाएंगी.

थोड़ा अलग है नई वंदेभारत

रेलवे बोर्ड के अनुसार तकनीकी रूप में नई वंदेभारत एक्‍सप्रेस में बदलाव किए गए हैं. मौजूदा वंदेभारत ट्रेन में सीट का पिछला हिस्‍सा ही मूव कर सकता है, जबकि नई ट्रेन में पूरी सीट सुविधा अनुसार मूव कराई जा सकती है. इसके अलावा यात्रियों की सुविधा को ध्‍यान में रखते हुए बदलाव किए गए हैं.

Tags: Indian Railways, Vande bharat, Vande Bharat Trains

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें