Home /News /gujarat /

हार्दिक की घटती लोकप्रियता, पटेल की गैरमौजूदगी के बीच क्या गुजरात में चल पाएगा बघेल या पायलट का जादू?

हार्दिक की घटती लोकप्रियता, पटेल की गैरमौजूदगी के बीच क्या गुजरात में चल पाएगा बघेल या पायलट का जादू?

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी सांसद राहुल गांधी की फाइल फोटो (File pic PTI)

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी सांसद राहुल गांधी की फाइल फोटो (File pic PTI)

गुजरात में साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस (Congress In Gujarat) बीजेपी से कुछ ही सीट पीछे रह गई थी. जिग्नेश मेवाणी, हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर की तिकड़ी ने बीजेपी को खासा परेशान किया था. हालांकि अब हार्दिक का जादू घटता दिख रहा है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विजय रुपाणी (Vijay Rupani) की जगह भूपेंद्र पटेल (Bhupendra Patel) को मुख्यमंत्री नियुक्त कर दिया है. राज्य के चुनाव में एक साल से थोड़ा सा ज्यादा वक्त बचा है, ऐसे में यह स्पष्ट है कि भाजपा राज्य में शक्तिशाली पटेल समुदाय को अपने साथ लाने की कोशिश में है. साथ ही पार्टी पूर्व सीएम रुपाणी के बारे में मिले फीडबैक को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहती. आगामी चुनाव को लेकर भाजपा की चिंता साफ समझ आती है. साल 2017 के चुनाव में कांग्रेस (Congress In Gujarat) के वोट प्रतिशत में 40 फीसदी का उछाल आया था. उस चुनाव में पार्टी बीजेपी से कुछ ही सीट पीछे रह गई थी. जिग्नेश मेवाणी, हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर की तिकड़ी ने काम किया था. इसके बाद हार्दिक ने राज्य में कांग्रेस को दोबारा मजबूत करने में मदद की. हालांकि अब उनका जादू घट रहा है. ठाकोर, पहले ही पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं.

राहुल गांधी ने साल 2017 में आदिवासियों, किसानों, पटेलों और सभी अहम वर्गों तक पहुंचने के लिए राज्य का दौरा किया था. उन्होंने किसी भी विवादास्पद और व्यक्तिगत मुद्दों से किनारा कर लिया. कांग्रेस ने राज्य में’विकास गांडो थायो छे’ (विकास पागल हो गया है) का नारा दिया था.

पार्टी काडर उदास!
हालांकि इस बार पार्टी काडर उदास लग रहा है. चुनाव के पहले अहमद पटेल की गैरमौजूदगी भी लोगों को खल रही है. राज्यसभा चुनाव में अहमद पटेल की आक्रामक जीत के बाद यह धारणा बनी थी कि कांग्रेस राज्य में आगे बढ़ सकती है. हालांकि पार्टी काडर को उम्मीद है कि परिस्थितियां बदलेंगी. सूत्रों का कहना है कि इसी वजह से राहुल गांधी गुजरात पर विशेष ध्यान दे रहे हैं, उन्हें लगता है कि पीएम के गृह राज्य में बीजेपी की हार साल 2024 के चुनावों से पहले उसके लिए सबसे बड़ा झटका होगी. राज्य के प्रभारी राजीव सातव के निधन के बाद उनकी जगह नए प्रभारी की तलाश जारी है.

सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी चाहते हैं कि कोई तेजतर्रार शख्स कार्यभार संभाले. इस बाबत छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल का नाम प्रस्तावित था. राहुल ने प्रस्ताव दिया था कि बघेल, गुजरात में कांग्रेस का काम संभालें. हालांकि बघेल छत्तीसगढ़ के सीएम पद पर बने हुए हैं, ऐसे में राज्य के लिए नए प्रभारी की तलाश जारी है.

उधर, गुजरात के प्रभारी के तौर पर राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ सचिन पायलट के नाम पर भी विचार किया जा रहा है. माना जा रहा है कि उनके सरीखा तेज शख्स गुजरात में काम कर सकता है. इसके साथ ही वह गुजरात के प्रभारी रहते हुए राजस्थान से कटे भी नहीं रहेंगे.

Tags: Bhupesh Baghel, BJP, Congress, Gujarat, Sachin pilot

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर