कोरोना वायरस: सहमा देने वाले दृश्य! सूरत के श्मशानों में शवों को नहीं मिली जगह, बाहर मैदान में अंतिम संस्कार

सूरत में श्मशान घाट के बाहर मैदान में दाह-संस्कार.

सूरत में श्मशान घाट के बाहर मैदान में दाह-संस्कार.

Gujarat Coronavirus Case: एक ही कब्रिस्तान में 20 से अधिक शवों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया है और वह भी रात में.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 3:55 PM IST
  • Share this:
सूरत: सूरत में कोरोना वायरस की इस दूसरी लहर में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है. शहर में एक तरफ पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या और बचाव के लिए इंजेक्शन की कमी देखने को मिल रही है, वहीं दूसरी ओर शहर में मरने वालों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. सूरत में मौतों की संख्या अचानक बढ़ गई है और श्मशान में जगह कम पड़ रही हैं, जिसके कारण मजबूरन श्मशान के बाहर खुले मैदान में अग्नि संस्कार किया किया जा रहा है.

हालांकि, एक ही कब्रिस्तान में 20 से अधिक शवों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया है और वह भी रात में. यह संभव है कि इसमें कोरोना संक्रमित ओर नॉन कोविड दोनों मौतें सामिल हैं. कोरोना वायरस से जूझ रहे लोगों के लिए यह परिदृश्य चिंताजनक हैं. साथ-साथ प्रशासन का संकलन का अभाव भी दिखाई देता है.



20 से अधिक लाशों के एक साथ अंतिम संस्कार से सवाल उठता है. अगर एक में ये स्थिति है तो सभी श्मशान में शवों की संख्या क्या होगी और कब्रिस्तान के आंकड़ों को अभी तक इस पूरे अध्याय में नहीं माना गया है. इस प्रकार डेथ ऑडिट कमेटी की मृत्यु के आंकड़े और श्मशान में दाह संस्कार की संख्या कुछ अलग स्थिति का वर्णन करती है.
सामाजिक कार्यकर्ता मांग कर रहे हैं कि सरकार को सटीक मौत के आंकड़े जारी करने चाहिए ताकि लोग वास्तव में सही जानकारी प्राप्त कर के अधिक सतर्क रहें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज