होम /न्यूज /gujarat /गुजरात की 182 में से सिर्फ 1 सीट, जहां पिछले 5 चुनावों से कांग्रेस को मिल रहे सर्वाधिक वोट

गुजरात की 182 में से सिर्फ 1 सीट, जहां पिछले 5 चुनावों से कांग्रेस को मिल रहे सर्वाधिक वोट

कांग्रेस ने गुजरात में अपने चुनावी इतिहास का सबसे खराब प्रदर्शन किया और सिर्फ 17 सीटें जीत सकी. (File Photo)

कांग्रेस ने गुजरात में अपने चुनावी इतिहास का सबसे खराब प्रदर्शन किया और सिर्फ 17 सीटें जीत सकी. (File Photo)

कांग्रेस ने गुजरात चुनाव में 179 उम्मीदवार उतारे थे, जिनमें से 41 ने अपनी जमानत गंवा दी (1/6 से कम या 16.66% वोट प्राप् ...अधिक पढ़ें

अहमदाबाद: गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 के नतीजे देश के सबसे पुराने राजनीतिक दल कांग्रेस के लिए निराशाजनक रहे. कांग्रेस ने गुजरात में अपने चुनावी इतिहास का सबसे खराब प्रदर्शन किया और सिर्फ 17 सीटें जीत सकी. भाजपा ने 156 सीटों के साथ आज तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज करते हुए राज्य के लगातार 7वें विधानसभा चुनाव में अपना परचम लहराया. गुजरात की सभी 182 सीटों में से अहमदाबाद में दाणीलीमडा एकमात्र विधानसभा क्षेत्र है जहां पिछले 5 चुनावों (2012, 2017, 2022 के विधानसभा चुनाव और 2014, 2019 के लोकसभा चुनाव) में कांग्रेस को सबसे अधिक वोट मिले हैं.

गुजरात में बंद हुई कांग्रेस की ‘घड़ी’, जानें क्या है ‘परिवर्तन के समय’ की कहानी

कांग्रेस ने गुजरात चुनाव में 179 उम्मीदवार उतारे थे, जिनमें से 41 ने अपनी जमानत गंवा दी (1/6 से कम या 16.66% वोट प्राप्त किए). दो विधानसभा सीटों पाटन और वंसदा में कांग्रेस उम्मीदवारों ने 50% से अधिक वोट हासिल किए. AIMIM को 1 सीट जमालपुर-खड़िया में जीत के अंतर से ज्यादा वोट मिले. हालांकि, उस सीट पर कांग्रेस के इमरान खेड़ावाला ने जीत हासिल की. गुजरात की 182 सीटों में से अनुसूचित जाति (एससी) के लिए 13 और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए 27 सीटें आरक्षित थीं. अनुसूचित जाति (एससी) के लिए आरक्षित 13 सीटों में से 11 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्द की. वहीं दो कांग्रेस के खाते में गईं. उनमें से एक सीट पर (वडगाम) जिग्नेश मेवाणी उम्मीदवार थे.

वहीं अगर अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित 27 सीटों की बात करें तो, इनमें से 23 पर भाजपा ने कब्जा जमाया. वहीं 3 पर कांग्रेस और सीट पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की. पिछली बार 41 प्रतिशत वोट शेयर पाने वाली कांग्रेस इस बार 27 प्रतिशत पर सिमट गई है और उसके हिस्से के 13 प्रतिशत वोट शेयर पर आम आदमी पार्टी ने कब्जा कर लिया. दूसरी ओर भाजपा ने अपना वोट शेयर 49 फीसदी से बढ़ाकर करीब 52 फीसदी कर लिया. बीजेपी ने 85 फीसदी से अधिक सीटें जीतकर कांग्रेस के 1960 के रिकॉर्ड को तोड़ दिया. वहीं, 156 सीटें जीतकर कांग्रेस के 1985 के ​रिकॉर्ड तो तोड़ा, जब उसने माधव सिंह सोलंकी के नेतृत्व में 149 सीटें जीती थीं.

कभी गुजरात का किंग हुआ करती थी कांग्रेस, बीजेपी भी नहीं तोड़ पाई उसका रिकॉर्ड

आंकलाव से अमित चावड़ा, वंसदा से अनंत कुमार हसमुखभाई पटेल, चाणस्‍मा से ठाकोर दिनेशभाई आताजी, दाणीलीमडा से शैलेष मनुभाई परमार, दांता से कांतिभाई कालाभाई खराडी पारघी, कांकरेज से अम्रुतजी मोतीजी ठाकोर, खंभात से चिराग कुमार अरविंदभाई पटेल, खेडब्रह्मा से डॉ.तुषार अमरसिंह चौधरी, लुणावाडा से गुलाबसिंह सोमसिंह चौहाण, पाटन से किरीट कुमार पटेल, पोरबंदर से अर्जुनभाई देवाभाई मोढवाडीया, सोमनाथ से चुडासमा विमलभाई कानाभाई, वडगाम से जिग्‍नेश मेवाणी, वाव से ठाकोर गेनीबेन नगाजी, वीजापुर से डॉ. सी.जे. चावड़ा ने कांग्रेस के लिए जीत दर्ज की. पिछले चुनाव में कांग्रेस को 77 सीटें मिली थीं और भाजपा को 99 सीटों से संतोष करना पड़ा था, जो 1995 के बाद से उसका सबसे खराब प्रदर्शन था.

Tags: Assembly Election Result 2022, Gujarat Assembly Election, Gujarat Election News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें