लाइव टीवी

मरीज से 32 किलोमीटर दूर बैठ डॉक्टर ने रोबोट के जरिए की हार्ट सर्जरी


Updated: December 5, 2018, 7:10 PM IST
मरीज से 32 किलोमीटर दूर बैठ डॉक्टर ने रोबोट के जरिए की हार्ट सर्जरी
डॉक्टर तेजस पटेल और उनकी टीम ने 32 किलोमीटर दूर अहमदाबाद स्थित अपने अपेक्स हार्ट इंस्टिट्यूट की कैथ लैब में रोबोट की सहायता से हार्ट सर्जरी की.

डॉक्टर तेजस पटेल और उनकी टीम ने 32 किलोमीटर दूर अहमदाबाद स्थित अपने अपेक्स हार्ट इंस्टिट्यूट की कैथ लैब में रोबोट की सहायता से हार्ट सर्जरी की.

  • Last Updated: December 5, 2018, 7:10 PM IST
  • Share this:
गांधीनगर अक्षरधाम मंदिर के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है और साल 2002 में यहां आतंकवादी हमला हुआ था. आज इसी स्थान से जान बचाने का एक नया अभियान शुरू हुआ. बुधवार को अक्षरधाम में बैठकर गुजरात के प्रसिद्ध कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर तेजस पटेल और उनकी टीम ने 32 किलोमीटर दूर अहमदाबाद स्थित अपने अपेक्स हार्ट इंस्टिट्यूट की कैथ लैब में रोबोट की सहायता से हार्ट सर्जरी की.

अपेक्स हार्ट इंस्टिट्यूट के चीफ कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर तेजस पटेल और उनकी टीम ने आज कुल 5 मरीज़ों की सर्जरी की. इन मरीज़ों की पहचान को पूरी तरह गुप्त रखा गया. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि एक अधेड़ उम्र की महिला को दिल का दौरा पड़ा था और इलाज के दौरान वह रोबोटिक सर्जरी के इस प्रयोग के लिए राज़ी हो गई.

भारत में यह पहला मौका है जबकि रोबोट की सहायता से इस तरह हॉस्पिटल से दूर रोबोटिक सर्जरी की गई. इस पूरे अभियान का उद्देश्य यह है कि दुनिया के किसी भी कोने में इंटरनेट से रोबोट ऑपरेट करके सर्जरी की जा सकती है.

दिल के मरीजों के लिए भारत आई रोबोट तकनीक, जानिये कैसे करेगी काम

डॉक्टर पटेल ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए बताया, 'इस तकनीक से हमने 32 किलोमीटर दूर रहकर सर्जरी की, लेकिन जल्दी ही हम मरीज़ों का इलाज 300 या 3000 किलोमीटर दूर रहकर भी कर सकेंगे. इस तकनीक से रिमोट एरिया कवर होगा और हॉस्पिटल पहुंचने का समय बचेगा. हम इस नई तकनीक की मदद से आने वाले दिनों में भी इसी तरह की सर्जरी करते रहेंगे.'

करीब दो साल पहले अपेक्स हार्ट इंस्टिट्यूट ले लिए डॉक्टर तेजस पटेल ने यह रोबोट सिस्टम लगभग 9.50 करोड़ रुपए की लागत से खरीदा था. तब से इस रोबोट की सहायता से कई सर्जरी की गई, लेकिन आज कैथलैब से 32 किलोमीटर दूर रहकर रोबोट को निर्देश देकर सर्जरी को अंजाम दिया गया, जो मेडिकल साइंस में एक बड़ी उपलब्धि है.

जब डॉक्टर तेजस अपने इस अभियान को अंजाम दे रहे थे तब गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी सहित की जाने माने लोग अक्षरधाम मंदिर में मौजूद थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Gandhinagar से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2018, 6:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर