लाइव टीवी

स्मृति ईरानी का दावा- पुलिस की जांच के बाद अब जल्द पकड़े जाएंगे जेएनयू हिंसा के गुनहगार

News18Hindi
Updated: January 12, 2020, 11:35 PM IST
स्मृति ईरानी का दावा- पुलिस की जांच के बाद अब जल्द पकड़े जाएंगे जेएनयू हिंसा के गुनहगार
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने रविवार को कहा कि दिल्ली पुलिस की जांच के बाद एक शिक्षण संस्थान के परिसर में हुई हिंसा (JNU Violence) के गुनहगारों को सजा होगी. उन्होंने कहा कि जांच के बाद ‘इंसाफ’ होगा. वह संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship amendment Act) पर एक जनसभा में हिस्सा लेने गई थीं.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने रविवार को कहा कि दिल्ली पुलिस की जांच के बाद एक शिक्षण संस्थान के परिसर में हुई हिंसा (JNU Violence) के गुनहगारों को सजा होगी. उन्होंने कहा कि जांच के बाद ‘इंसाफ’ होगा. वह संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship amendment Act) पर एक जनसभा में हिस्सा लेने गई थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 12, 2020, 11:35 PM IST
  • Share this:
सूरत. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने रविवार को कहा कि दिल्ली पुलिस की जांच के बाद एक शिक्षण संस्थान के परिसर में हुई हिंसा (JNU Violence) के गुनहगारों को सजा होगी. उनका इशारा जेएनयू की ओर था. उन्होंने कहा कि कोई भी विपक्षी दल उन गैर राजनीतिक विद्यार्थियों की बात नहीं कर रहा है, जो पढ़ाई करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि जांच के बाद ‘इंसाफ’ होगा. वह संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship amendment Act) पर एक जनसभा में हिस्सा लेने गई थीं.
दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में पांच जनवरी को हुई हिंसा के बारे में संवाददाताओं द्वारा पूछे जाने पर ईरानी ने कहा, ‘किसी भी शिक्षण संस्थान में जो कोई भी सर्वर तोड़ता है या बाधा खड़ी करता है, उसे समझना चाहिए कि वह (संस्थान) भारतीय करदाताओं के पैसे से चलता है और इससे (इन हरकतों से) उनके हितों को नुकसान पहुंचता है.’

'जांच के बाद होगा इंसाफ'
उन्होंने कहा, ‘ऐसी हरकतों से उन 3000 से अधिक विद्यार्थियों के हितों को भी नुकसान पहुंचता है, जिन्होंने पंजीकरण करवाया है और उन शिक्षकों का भी नुकसान होता है, जिनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. किसी भी विपक्षी दल ने उनकी ओर से नहीं बोला है, लेकिन मुझे आशा है कि जांच के बाद इंसाफ होगा.’



'सबूत के आधार पर हो सजा'
जेएनयू हिंसा के बारे में मंत्री ने कहा, ‘जांच चल रही है. दिल्ली पुलिस ने देश के सामने सबूत रखा है. संवैधानिक पद पर होने के नाते बस मैं इतना कहना चाहूंगी कि दोषियों को अदालत में पेश किये जाने वाले सबूत के आधार पर सजा हो.’ जेएनयू परिसर में 5 जनवरी को नकाबपोश लोगों ने लाठी डडों से हमला किया था जिससे कई विद्यार्थी घायल हो गए थे. वाम संगठनों ने आरएसएस से जुड़े अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है, लेकिन परिषद ने स्पष्ट इनकार किया है.



भाजपा सांसद ईरानी ने कहा, ‘जो देश को बांटने की बात करते हैं, नारे लगाते हैं... जो भारत के संविधान को नहीं स्वीकार करते हैं, उन्हें इस तथ्य को स्वीकार करना चाहिए कि वे स्वतंत्र भारत के खिलाफ इसलिए नारे लगा पाते हैं, क्योंकि कई सैनिकों ने सीमाओं पर अपना जीवन बलिदान दिया है.’

ये भी पढ़ें:- 
सुप्रीम कोर्ट ने कश्मीर में इंटरनेट शटडाउन पर क्यों दिया इतना 'सख्त फैसला'
2 साल में क्यों दोगुने हो गए देशद्रोह के मामले
‘स्किल इंडिया’ की नकल कर फिसड्डी पाकिस्तान को ‘हुनरमंद’ बनाएंगे इमरान?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Surat से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 12, 2020, 11:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading