अपना शहर चुनें

States

गुजरात: CBI ने सूरत और नवसारी में मारे छापे, 121 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी का मामला

अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने चार बैंकों के कंसोर्टियम में शामिल कैनरा बैंक की शिकायत पर कंपनी और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. (सांकेतिक तस्वीर)
अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने चार बैंकों के कंसोर्टियम में शामिल कैनरा बैंक की शिकायत पर कंपनी और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

सीबीआई (CBI) के प्रवक्ता आरके गौर ने बताया 'आरोप है कि 2017 से 2019 के बीच आरोपियों ने कैनरा समेत बैंकों के कंसोर्टियम के साथ करीब 121.05 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की साजिश में शामिल हुए.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 11:06 AM IST
  • Share this:
गांधीनगर. गुजरात में 121 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड (Bank Fraud) से जुड़े मामले में सीबीआई ने गुरुवार को बड़ी कार्रवाई की है. सीबीआई ने सूरत (Surat) और नवसारी (Navasari) में पांच जगहों पर तलाशी की. सीबीआई ने यह तलाशी 2017-19 में हुए फ्रॉड के आरोप में सूर्या एक्जिम लिमिटेड (Surya Exim Ltd) और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद की है. यह जानकारी अधिकारियों ने दी.

अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने चार बैंकों के कंसोर्टियम में शामिल कैनरा बैंक की शिकायत पर कंपनी और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. सीबीआई के प्रवक्ता आरके गौर ने बताया 'आरोप है कि 2017 से 2019 के बीच आरोपियों ने कैनरा समेत बैंकों के कंसोर्टियम के साथ करीब 121.05 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की साजिश में शामिल हुए.'

यह भी पढ़ें- हाथरस कांड: CBI आज कोर्ट में दाखिल करेगी फाइनल रिपोर्ट, पीड़िता के भाई को लेकर जाएगी गुजरात



उन्होंने बताया कि कंपनी पर कंसोर्टियम की तरफ से क्रैडिट सुविधाएं लेने का आरोप है. जबकि, कंपनी ने बगैर एनओसी हासिल किए निजी बैंकों में खाते चालू रखे और पैसा निकालने के लिए इन खातों का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा 'खाता एनपीए (Non performing asset) बन गया. इस वजह से कंसोर्टियम को 121.05 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ.' उन्होंने जानकारी दी कि एजेंसी ने इन आरोपियों के सूरत और नवसारी स्थित दफ्तर और घरों की तलाशी ली. इस दौरान कई कागजात बरामद हुए हैं.

कुछ दिनों पहले भी सीबीआई ने 452.62 करोड़ और 72.55 करोड़ रुपए के बैंक फ्रॉड से जुड़े दो अलग-अलग मामले दर्ज किए थे. इसी के चलते एजेंसी ने आरोपी के गुजरात और मुंबई स्थित 9 इलाकों पर छापे मारे. पहला मामला अहमदाबाद स्थित एक निजी कंपनी के खिलाफ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत पर दर्ज किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज