होम /न्यूज /gujarat /VIDEO: गरबा कार्यक्रम में पत्थरबाजी के आरोपियों को खंभे से बांधकर पीटा, पुलिसवालों के खिलाफ जांच शुरू

VIDEO: गरबा कार्यक्रम में पत्थरबाजी के आरोपियों को खंभे से बांधकर पीटा, पुलिसवालों के खिलाफ जांच शुरू

गरबा कार्यक्रम पर कथित रूप से पत्थरबाजी करने के आरोपियों को खंभे से बांधकर पीटती गुजरात पुलिस. (Screenshot)

गरबा कार्यक्रम पर कथित रूप से पत्थरबाजी करने के आरोपियों को खंभे से बांधकर पीटती गुजरात पुलिस. (Screenshot)

गुजरात के पुलिस महानिदेशक (DGP) आशीष भाटिया ने द इंडियन एक्सप्रेस कहा, 'हमने वीडियो में देखे गए पुलिसकर्मियों की जांच क ...अधिक पढ़ें

अहमदाबाद: गुजरात का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है, जिसमें सादे कपड़ों में कुछ लोग 4 बंदों को बिजली के खंभे से बांधकर उनकी लाठी से पिटाई करते हुए दिखाई दे रहे हैं. इनकी पहचान खेड़ा जिले की स्थानीय अपराध शाखा (LCB) इकाई के पुलिस कर्मियों के रूप में की गई है. इनमें पुलिस इंस्पेक्टर एवी परमार थे. खंभे से बंधे बंदों की जेब से फोन और पर्स निकालते नजर आए एक अन्य व्यक्ति की पहचान सब इंस्पेक्टर डीबी कुमावत के रूप में हुई है. हालांकि, गुजरात पुलिस ने वायरल वीडियो क्लिप में दिख रहे अपने कर्मियों का नाम अभी तक नहीं लिया है.

गुजरात के पुलिस महानिदेशक (DGP) आशीष भाटिया ने द इंडियन एक्सप्रेस कहा, ‘हमने वीडियो में देखे गए पुलिसकर्मियों की जांच के आदेश दिए हैं. जांच के बाद ही कार्रवाई की जाएगी.’ कपडवंज तालुका के पुलिस उपाधीक्षक वीएन सोलंकी को जांच का प्रभार दिया गया है. उन्होंने संपर्क करने पर द इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘मुझे आज जांच सौंपी गई है. अभी वीडियो क्लिप के विवरण पर गौर करना है.’ परमार और कुमावत के बारे में पूछे जाने पर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हम इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि ये हमारे आदमी हैं. उन्हें कानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए था.’

सूत्रों ने कहा कि एलसीबी इकाई के 7 कर्मियों की जांच की जा रही है. एक अधिकारी ने कहा, ‘प्राथमिक जांच रिपोर्ट एक बार जमा होने के बाद, पुलिस कर्मियों को पहली अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. उन्हें अपना पक्ष प्रस्तुत करने के लिए कहा जाएगा.’ मंगलवार को सामने आए वीडियो क्लिप में कम से कम 4 लोगों को एक चौक पर बारी-बारी से बिजली के खंभे से बांधकर एक व्यक्ति द्वारा लाठी से पीटते हुए देखा जा सकता है. उसकी बेल्ट पर बंदूक बंधी है. अन्य कुछ लोग उसकी मदद कर रहे हैं. ये सभी सादे कपड़ों में हैं. इसके बाद मार खाने वाले चारों बंदों को भीड़ के सामने हाथ जोड़ते हुए देखा जाता है. सादे कपड़ों में खड़े व्यक्तियों द्वारा चारों को पास की पुलिस वैन में चढ़ने का निर्देश दिया जाता है.


गुजरात के खेड़ा जिले के मटर तालुका के उंधेला गांव में सोमवार रात एक गरबा कार्यक्रम में कथित तौर पर पथराव हुआ था. सादे कपड़ों में पुलिसकर्मी जिन 4 लोगों को बिजली के खंभे से बांधकर पीट रहे हैं, उन पर गरबा कार्यक्रम में कथित रूप से बाधा डालने और पत्थरबाजी करने का आरोप है. मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान उजागर नहीं की गई है. पुलिस ने पुष्टि की कि वे सभी मुस्लिम समुदाय से हैं. गांव के सरपंच, इंद्रवदन पटेल ने स्थानीय मंदिर के बाहर गरबा का आयोजन किया था, जो मस्जिद के सामने स्थित है और उसकी एक दीवार मदरसे के साथ लगती है. लगभग 6,000 की आबादी वाले इस गांव में दोनों समुदायों की आबादी लगभग बराबर है.

विशेष अभियान समूह (Special Operations Group), खेड़ा में गरबा कार्यक्रम पर हुए कथित पथराव के संबंध में दर्ज एफआईआर के आधार पर जांच कर रहा है. नाडियाड के पुलिस उपाधीक्षक वीआर बाजपेयी ने कहा, ‘हम सबूतों की जांच कर रहे हैं. अन्य आरोपियों की तलाश में टीमें लगी हुई हैं. अगर हमें लगता है कि घटना पूर्व नियोजित थी, तो हम तदनुसार कार्रवाई करेंगे.’ बुधवार को गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने कहा था कि यह ‘गांव के कुछ असामाजिक तत्व’ थे न कि ‘कोई समुदाय नहीं’ था, जिन्होंने शांति भंग करने की कोशिश की.

Tags: Ahmadabad, Gujarat news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें