2011 मुंबई ट्रिपल ब्लास्ट केसः IM आतंकी यासिन भटकल के खिलाफ UAPA और MCOCA के तहत मामले तय

महाराष्ट्र के एंटी टेररिज्म स्क्वॉयड का दावा है कि भटकल ने ही इन धमाकों की साजिश रची थी और बायकुला में एक कमरा पर किराए पर दिया था, जहां धमाके में इस्तेमाल बम तैयार किए गए थे. फाइल फोटो

Mumbai Triple Blast case: मुंबई के जावेरी बाजार, ओपेरा हाउस और दादर रेलवे स्टेशन के पास तीन जगहों पर ब्लास्ट की घटना के 10 साल बाद भी मामले में ट्रायल शुरू नहीं हो पाया है.

  • Share this:
    मुंबई. 2011 के मुंबई ट्रिपल ब्लास्ट केस में इंडियन मुजाहिद्दीन (Indian Mujahideen) के आतंकी यासिन भटकल के खिलाफ स्पेशल कोर्ट ने मामले तय कर दिए हैं. कोर्ट ने एजाज सईद शेख के खिलाफ भी मामले तय किए हैं. भटकल और शेख नई दिल्ली स्थित तिहाड़ सेंट्रल जेल (Tihar Central Jail) में बंद हैं और ब्लास्ट के अन्य मामलों में दोषी ठहराए गए हैं. कोर्ट ने सोमवार को दोनों आतंकियों के खिलाफ हत्या, आपराधिक साजिश और गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (UAPA) और महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट (MCOCA) की अन्य सुसंगत धाराओं में मामले तय किए हैं. दोनों आतंकियों ने खुद को दोषी नहीं माना है.

    भटकल और शेख आरोप तय करने की प्रक्रिया के लिए मुंबई की कोर्ट में पेश किए जाने पर जोर दे रहे थे. कोर्ट ने पिछले महीने शेख की याचिका को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि राज्य सरकार द्वारा आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 268 के तहत एक सामान्य आदेश पारित किया गया था, जिसके माध्यम से उसे कोर्ट में पेश नहीं करने का अधिकार है, क्योंकि वह मौत की सजा का सामना कर रहा है.



    बता दें कि भटकल सोमवार को भी पेश किए जाने पर दे रहा है, जिस पर कोर्ट ने कहा कि उसे बहुत मौके दिए गए थे. कोर्ट ने कहा, 'फटकार भी लगाई है कि उन्हें निष्पक्ष सुनवाई का हर मौका देने के लिए वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बार-बार कनेक्ट किया गया. अन्यथा, आरोपों की सुनवाई के लिए उनके लगातार इनकार के कारण, कोर्ट की प्रक्रिया आगे बढ़ गई होती.' कोर्ट ने उन्हें यह भी निर्देश दिया कि आरोपियों के इस तरह के व्यवहार के कारण, ट्रायल तेजी से आगे नहीं बढ़ रहा है. कोर्ट की इस टिप्पणी के बाद भटकल ने तिहाड़ जेल से वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आरोप तय करने पर सहमति व्यक्त की.

    मुंबई के जावेरी बाजार, ओपेरा हाउस और दादर रेलवे स्टेशन के पास तीन जगहों पर ब्लास्ट की घटना के 10 साल बाद भी मामले में ट्रायल शुरू नहीं हो पाया है. ट्रिपल ब्लास्ट में 27 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 127 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

    पढ़ेंः जानें क्या है UAPA संशोधन बिल की खास बातें

    महाराष्ट्र के एंटी टेररिज्म स्क्वॉयड का दावा है कि भटकल ने ही इन धमाकों की साजिश रची थी और बायकुला में एक कमरा पर किराए पर दिया था, जहां धमाके में इस्तेमाल बम तैयार किए गए थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.