Home /News /gujarat /

कोरोनाः रिलायंस फाउंडेशन की पहल, जामनगर में 1,000 बेड का कोविड केयर जल्द, फ्री होगा इलाज

कोरोनाः रिलायंस फाउंडेशन की पहल, जामनगर में 1,000 बेड का कोविड केयर जल्द, फ्री होगा इलाज

मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की अगुवाई में रिलायंस फाउंडेशन की पहल पर जामनगर में बनेगा 1000 बेड का कोविड केयर, जहां संक्रमितों का इलाज मुफ्त होगा.

मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की अगुवाई में रिलायंस फाउंडेशन की पहल पर जामनगर में बनेगा 1000 बेड का कोविड केयर, जहां संक्रमितों का इलाज मुफ्त होगा.

Reliance Foundation covid care facilities: 1000 बेड के बिस्तरों में से 400 बिस्तरों का कोविड सेंटर जामनगर के सरकारी डेंटल कॉलेज और अस्पताल में एक हफ्ते के भीतर शुरू हो जाएगा.

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) ने बड़ी पहल की है. फाउंडेशन जल्द ही गुजरात के जामनगर में ऑक्सीजन सप्लाई के साथ 1000 बिस्तरों वाला कोविड केयर फैसिलिटी संचालित करने जा रहा है. इस फैसिलिटी सेंटर में लोगों का मुफ्त इलाज किया जाएगा. सेंटर शुरू होने के बाद जामनगर, खमभलिया, द्वारका, पोरबंदर और सौराष्ट्र क्षेत्र के अन्य इलाकों को फायदा मिलेगा. इस कोविड सेंटर को स्थापित करने का पूरा खर्च रिलायंस फाउंडेशन उठाएगा.

    1000 बेड के बिस्तरों में से 400 बिस्तरों का कोविड सेंटर जामनगर के सरकारी डेंटल कॉलेज और अस्पताल में एक हफ्ते के भीतर शुरू हो जाएगा. इसके बाद 600 बिस्तरों का दूसरा कोविड केयर जामनगर में एक अन्य स्थान पर अगले दो हफ्तों में शुरू हो जाएगा. इस सभी सेवाओं के लिए मैनपावर, मेडिकल सपोर्ट, उपकरण और अन्य डिस्पोजेबल आइटम रिलायंस की तरफ से उपलब्ध कराया जाएगा. इस फैसिलिटी सेंटर में डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ के लिए राज्य सरकार सहयोग प्रदान करेगी.



    इस बारे में रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन और संस्थापक नीता अंबानी (Nita Ambani) ने कहा, "भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है. हम हर तरीके से मदद करने को तैयार हैं. मौजूदा समय में अतिरिक्त हेल्थकेयर फैसिलिटी की बेहद आवश्यकता है. रिलायंस फाउंडेशन गुजरात के जामनगर में ऑक्सीजन की सुविधा के साथ 1000 बिस्तरों का अस्पताल स्थापित कर रहा है. इसके तहत पहले चरण में 400 बिस्तर एक हफ्ते के भीतर मरीजों के इलाज के लिए सक्रिय होंगे, जबकि 600 अन्य बिस्तर दूसरे हफ्ते में उपलब्ध कराए जाएंगे. अस्पताल में मरीजों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधाएं निशुल्क मिलेंगी."

    उन्होंने कहा कि रिलायंस फाउंडेशन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देशवासियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है. फाउंडेशन कीमती जानें बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगा और पूरी एकजुटता के साथ इस लड़ाई को जीतेंगे. दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के ग्रुप प्रेसिडेंट धनराज नाथवानी ने कहा, "महामारी के समय देश के लोगों की जान बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अथक प्रयास कर रहे हैं. गुजरात के मुख्यमंत्री, इन मुश्किल हालातों में राज्य के लोगों की जान बचाने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने में जुटे हुए हैं. ऐसे में रिलायंस के सीएमडी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने गुजरात में कोरोना संक्रमित मरीजों की सहायता के लिए अस्पताल की सुविधा प्रदान करने की पहल की है.

    उन्होंने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन की अगुवाई में रिलायंस टीम कम से कम समय में दो कोविड फैसिलिटी सेंटर स्थापित करने के लिए काम कर रही है. बता दें कि किसी भी आपदा के समय रिलायंस देशवासियों की मदद के लिए अग्रिम मोर्चे पर खड़ा रहा है. पिछले एक साल से भारत कोरोना वायरस संकट से जूझ रहा है और रिलायंस गुजरात के साथ देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों की मदद के लिए लगातार काम कर रहा है.

    इसके अलावा रिलायंस गुजरात और अन्य राज्यों को ऑक्सीजन भी उपलब्ध करा रहा है, मुंबई में रिलायंस इंडस्ट्रीज लोगों को मुफ्त कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध करा रही है, जहां रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल 875 बिस्तरों का प्रबंधन संभाल रहा है. नए फैसिलिटी सेंटर स्थापित होने के बाद जामनगर और मुंबई के बीच रिलायंस 1875 बिस्तरों के कोविड केयर का संचालन करेगा.

    (डिस्क्लेमर- नेटवर्क18 और टीवी18 कंपनियां चैनल/वेबसाइट का संचालन करती हैं, जिनका नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज एकमात्र लाभार्थी है.)undefined

    Tags: 1000 bedded covid care facilities, Covid care facilities in Jamnagar, Mukesh ambani, Nita Ambani, Reliance Foundation

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर