Home /News /gujarat /

डीके शिवकुमार की राजनीतिक छवि मैनेज करने वाली फर्म पर आयकर का छापा

डीके शिवकुमार की राजनीतिक छवि मैनेज करने वाली फर्म पर आयकर का छापा

डिजाइनबॉक्स नाम की ये फर्म पिछले करीब छह महीने से शिवकुमार की रणनीति और छवि को लेकर काम कर ही है. (File Photo)

डिजाइनबॉक्स नाम की ये फर्म पिछले करीब छह महीने से शिवकुमार की रणनीति और छवि को लेकर काम कर ही है. (File Photo)

Karnataka News: अप्रैल में शिवकुमार ने डिज़ाइनबॉक्स को कर्नाटक कांग्रेस प्रचार और रणनीति को संभालने के लिए काम पर रखा था. लेकिन इसके कार्य करने की आक्रामक शैली और शिवकुमार को केंद्र में रखकर चलाए जा रहे अभियान के कारण पूर्व सीएम सिद्धारमैया सहित पार्टी के शीर्ष नेताओं के बीच असंतोष पैदा होने की स्थिति बन गई.

अधिक पढ़ें ...

    (डीपी सतीश)

    बेंगलुरु. पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) के करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी के कुछ दिन बाद आयकर विभाग ने मंगलवार को एक छवि और राजनीतिक परामर्श देने वाली फर्म पर छापेमारी की जिसके क्लाइंट कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार भी हैं. डिजाइनबॉक्स नाम की ये फर्म पिछले करीब छह महीने से शिवकुमार की रणनीति और छवि को लेकर काम कर रही है. यह असम और छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस का काम देख रही है.

    आयकर अधिकारियों ने डिजाइन बॉक्स के एमडी नरेश अरोड़ के जेडब्लू मैरिएट होटल स्थित कमरे और शिवकुमार के आवास के पास स्थित उनके दफ्तर पहुंचे. सूत्रों के मुताबिक, 10 टैक्स अधिकारियों ने परिसर में छानबीन की और कम्प्यूटर, हार्ड डिस्क और मोबाइल फोन सीज कर लिए. अधिकारी अरोड़ा, डिजाइन बॉक्स के को-फाउंडर और उसके कर्मचारियों से पूछताछ कर रहे हैं.

    पार्टी में भी पैदा हुआ असंतोष
    अप्रैल में शिवकुमार ने डिज़ाइनबॉक्स को कर्नाटक कांग्रेस प्रचार और रणनीति को संभालने के लिए काम पर रखा था. लेकिन इसके कार्य करने की आक्रामक शैली और शिवकुमार को केंद्र में रखकर चलाए जा रहे अभियान के कारण पूर्व सीएम सिद्धारमैया सहित पार्टी के शीर्ष नेताओं के बीच असंतोष पैदा होने की स्थिति बन गई.

    छापेमारी को बदले की प्रक्रिया मानते हुए शिवकुमार के करीबियों ने न्यूज18 से कहा, “सत्तारूढ़ भाजपा इस बात से डरी हुई है कि कर्नाटक में कांग्रेस वापसी कर सकती है. वह हमसे राजनीतिक तौर पर नहीं लड़ सकते. इसलिए वह इस तरह की गंदी तरकीबें अपना रहे हैं.”

    डीके शिवकुमार से संपर्क किए जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें इस छापेमारी की कोई आधिकारिक जानकारी है और वह इसके बारे में जानने के बाद कोई टिप्पणी करेंगे.

    Tags: BS Yediyurappa, DK Shivakumar, Karnataka, Karnataka News, Karnataka Politics

    अगली ख़बर