अपना शहर चुनें

States

गुजरात के कच्छ जिले में 4.3 की तीव्रता का भूकम्प, कोई हताहत नहीं

भूकंप का केंद्र कच्छ के खावडा गांव से 26 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में था. (सांकेतिक फोटो)
भूकंप का केंद्र कच्छ के खावडा गांव से 26 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में था. (सांकेतिक फोटो)

इंस्टीट्यूट ऑफ़ सिस्मोलॉजिकल रिसर्च (Institute of seismology Research) ने एक बयान में कहा कि कच्छ के भचाऊ के पास देर रात दो बजकर 29 मिनट पर 2.2 की तीव्रता का भूकम्प (Earthquake) आया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 30, 2020, 9:39 PM IST
  • Share this:
भुज. गुजरात (Gujarat) के कच्छ (Kutch) जिले में बुधवार सुबह भूकम्प के झटके महसूस किए गए, जिसकी तीव्रता 4.3 मापी गई है. अधिकारियों ने बताया कि किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. गांधीनगर के ‘इंस्टीट्यूट ऑफ़ सिस्मोलॉजिकल रिसर्च’ ने एक बयान में कहा, ‘‘ सुबह नौ बजकर 46 मिनट पर 4.3 की तीव्रता का भूकम्प (Earthquake) आया, जिसका केन्द्र कच्छ के खावडा गांव से 26 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में था.’’

कच्छ पश्चिमी संभाग के पुलिस नियंत्रण कक्ष के अनुसार, उत्तरी कच्छ के रेगिस्तानी इलाके में भूकम्प के झटके महसूस किए गए, जहां की आबादी बेहद कम है. किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. संस्थान ने बयान में कहा कि इससे पहले कच्छ के भचाऊ के पास देर रात दो बजकर 29 मिनट पर 2.2 की तीव्रता का भूकम्प आया था. भूकंप कच्छ के अधिकांश हिस्सों में महसूस किया गया, क्योंकि भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4 से ऊपर थी, इसलिए सौराष्ट्र और गुजरात के कुछ हिस्सों में भी भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए.

बता दें कि गुजरात के गिर सोमनाथ में दिसंबर के पहले सप्ताह में तड़के 1.7 से 3.3 तीव्रता वाले भूकंप के 19 झटके महसूस किए गए थे. तीव्रता कम होने के कारण किसी के हताहत होने की सूचना नहीं थी. गांधीनगर (Gandhinagar) स्थित भूकंप अनुसंधान संस्थान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसे मानसून से कारण होने वाली भूकंपीय गतिविधि बताया था, जो अक्सर भारी बारिश के बाद देखी जाती है.

आईएसआर अधिकारी का कहना था कि इससे चिंतित होने की कोई बात नहीं है. बता दें कि ये सोमनाथ में ये भूकंप रात 1 बजकर 42 मिनट से ये भूकंप 19 बार आया था. हालांकि भूकंप की तीव्रता कम थी. सौराष्ट्र के गिर सोमनाथ जिले में तालाला के पूर्व-उत्तर-पूर्व (ईएनई) में इसका केंद्र दर्ज किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज