• Home
  • »
  • News
  • »
  • gujarat
  • »
  • मृतक की भूमि के फर्जी कागजात बनाने के आरोप में अधिकारी, दो अन्य गिरफ्तार

मृतक की भूमि के फर्जी कागजात बनाने के आरोप में अधिकारी, दो अन्य गिरफ्तार

महाराष्‍ट्र पुलिस ने फर्जी कागजात बनाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.  (प्रतीकात्‍मक फोटो )

महाराष्‍ट्र पुलिस ने फर्जी कागजात बनाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. (प्रतीकात्‍मक फोटो )

महाराष्ट्र (Maharashtra) के ठाणे जिले में एक मृत व्यक्ति के नाम पंजीकृत भूमि का फर्जी कागजात बनाने के आरोप में एक ग्राम राजस्व अधिकारी और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है. उत्तन सगरी थाने के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि ग्राम के राजस्व अधिकारी ने मृत व्यक्ति की भूमि को छद्म नाम का इस्तेमाल करते हुए कथित तौर पर किसी अन्य व्यक्ति को हस्तांतरित कर दिया था.

  • Share this:

    ठाणे (महाराष्ट्र). महाराष्ट्र (Maharashtra) के ठाणे जिले में एक मृत व्यक्ति के नाम पंजीकृत भूमि का फर्जी कागजात बनाने के आरोप में एक ग्राम राजस्व अधिकारी और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है. उत्तन सगरी थाने के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि ग्राम के राजस्व अधिकारी ने मृत व्यक्ति की भूमि को छद्म नाम का इस्तेमाल करते हुए कथित तौर पर किसी अन्य व्यक्ति को हस्तांतरित कर दिया था. उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में राजस्व अधिकारी और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ शुरुआत में दो प्राथमिकी दर्ज की गई थीं.

    सूत्रों ने बताया कि दो एफआईआर दर्ज कराई गई थीं, इसके बाद उक्त अधिकारी ने अदालत का रुख किया था, लेकिन उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी गई थी. उन्होंने बताया कि इसके बाद राजस्व अधिकारी और दो अन्य लोगों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया.

    ये भी पढ़ें : भूपेंद्र पटेल ने बनाई नई टीम, जानें नए मंत्रियों के बारे में जिन्‍हें गुजरात सरकार में मिली जगह

    ये भी पढ़ें : PM मोदी के 71वें जन्‍मदिन पर सूरत में मनाया जाएगा विशाल नमोत्‍सव

    इधर पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और तथ्‍यों को जुटाया जा रहा है. राजस्‍व अधिकारी ने जानबूझ कर फर्जी कागजात बनाए हैं, इस तरह का आरोप सिद्ध हो जाता है तो उनकी नौकरी जाना तय हो जाएगा, साथ ही उन्‍हें न्‍यायालय, कारावास की सजा सुना सकता है.

    राजस्‍व विभाग के जानकार कहते हैं कि आम तौर पर ऐसा मामला सामने नहीं आता है. मृत व्‍यक्ति की जमीन के वारिसों को ही उसकी भूमि संपत्ति मिलती है. यदि राजस्‍व अधिकारी किसी कारणवश मृतक की भूमि किसी और के नाम हस्‍तांतरित करते हैं तो उसके लिए अलग प्रक्रिया अपनाई जाती है और इसके लिए वारिसों के साथ-साथ आम जनता को भी इसकी सूचना दे जाती है. ताकि यदि कोई आपत्ति आए तो उसका निराकरण करने के बाद ही भूमि का हस्‍तांतरण संभव होता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज