सूरत: एक और बैंक में गोल्ड लोन घोटाला आया सामने, नकली सोना जब्त

सूरत : बैंक में गोल्ड लोन घोटाला

सूरत : बैंक में गोल्ड लोन घोटाला

सूरत स्थित आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) और आईआईएफएल बैंक (IIAFL Bank) हाल ही में नकली सोने के ऋण के एक रैकेट की चपेट में आए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 30, 2021, 9:03 AM IST
  • Share this:
सूरत. सूरत (Surat) में कई करोड़ रुपये के गोल्ड लोन घोटाले से जुड़ा एक और मामला सामने आया है. BOB और ICICI में नकली सोने के बदले लोन देने के मामले के बाद एक और बैंक का नाम इसमें सामने आया है. शहर के फेडबैंक फाइनेंस सर्विस भी नकली सोने की बिक्री में कथित मनमानी और अन्य गिरोहों द्वारा लाखों रुपये के ऋण की जांच में पकड़ा गया है. पुलिस ने कपोदरा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

मिली जानकारी के अनुसार बिलिमोरा में सोमनाथ मंदिर के पीछे शिवचरण सोसायटी में रहने वाले अमित दुरलभ तांडेल फेडबैंक फाइनेंस सर्विसेज लिमिटेड में एरिया मैनेजर हैं. कंपनी की अमरोली, पीपल, उधना, कतरागाम, वराछा, हीराबाग, सरथना और कामराज शाखाएं उसके मातहत काम करती हैं. उनकी फाइनेंस कंपनी सोने के गहनों पर लोन देती है.आईसीआईसीआई बैंक और आईआईएफएल बैंक हाल ही में नकली सोने के ऋण के एक रैकेट की चपेट में आए थे.

दोबारा जांच में सामने आया मामला
इसके बाद कंपनी के मुख्य कार्यालय ने फिर से जांच करने का आदेश दिया गया कि क्या इस तरह के तौर-तरीकों से धोखा हुआ है. इस बीच, सहजनवां कॉम्प्लेक्स में कंपनी की हीराबाग शाखा में एक ऑडिट किया गया, जिसकी जांच कंपनी द्वारा की जा रही थी. यह पता चला कि आईसीआईसीआई और आईआईएफएल बैंक में नकली सोने की तस्करी करने वाले गिरोह ने इसी तरह फेडबैंक की हीराबाग शाखा से लाखों लोगों को ठग लिया था.



रिपोर्ट के अनुसार, गहनों को सोने से मढ़वाया गया था और अंदर कुछ अन्य धातु थी. इस तरह से नकली सोना रुपये में बेचा जाता था. कपोदरा पुलिस ने कयूर हरसुख शिंगला (गोकुलधाम रेजिडेंसी, कामराज), करण भीम भामर (गीतानगर सोसायटी, पुणे) और चिराग शंभू नाडा (मधुवन सोसायटी, पुणे) के खिलाफ 10.87 लाख रुपये का ऋण लेने के लिए शिकायत दर्ज की. कपोदरा पुलिस ने पहले गिरोह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया. कपोदरा पुलिस ने मामले के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज