सूरत हादसा: बच्चों की जान बचाने के लिए आग में घुस गया केतन, 12 को बचा भी लिया लेकिन..

इसी हादसे के दौरान जब कई लोग मोबाइल से वीडियो बना रहे थे, एक शख्स ऐसा भी था जिसने जान की परवाह नहीं की और दूसरी मंजिल तक चढ़ गया.

News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 10:51 AM IST
News18Hindi
Updated: May 25, 2019, 10:51 AM IST
गुजरात के सूरत में तक्षशिला कॉम्प्लेक्स के एक कोचिंग सेंटर में शुक्रवार देर शाम लगी भीषण आग में अभी तक 20 छात्रों की मौत हो गई है, जबकि 18 लोग घायल हो गए हैं. घटना के बाद अहमदाबाद में चल रहे सभी कोचिंग सेंटर्स को फिलहाल बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं. इस हादसे के दौरान जब कई लोग मोबाइल से वीडियो बना रहे थे, एक शख्स ऐसा भी था जिसने जान की परवाह नहीं की और दूसरी मंजिल तक चढ़ गया. केतन जोरवाडीया की बहादुरी के बाद कई और लोगों ने आगे आकर मदद करना शुरू किया था.

क्या है मामला


सूरत के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स की दूसरी मंजिल पर देर शाम जब आग लगी हुई थी, तो नीचे सड़क पर खड़े लोग डर की वजह से ऊपर जाने से बच रहे थे. कुछ लोग मोबाइल पर वीडियो भी बना रहे थे. इसी दौरान केतन जोरवाडीया नाम का एक शख्स अपनी जान की परवाह किए बिना आग में कूद गया.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में केतन ने कहा- 'मैंने वहां धुंआ देखा लेकिन मेरे समझ में नहीं आ रहा था कि क्या किया जाना चाहिए. मैंने एक सीढ़ी उठाई और ऊपर चढ़ गया. सबसे पहले मैंने 2 बच्चों को आग से बचाया. इसके बाद 8-10 और लोगों को वहां से निकलने में मदद की. बाद में 2 और छात्रों को मैंने वहां से निकाला. फायर ब्रिगेड को आने में 40-45 मिनट का वक़्त लगा था.'



 

केतन जान की परवाह किए बिना बिल्डिंग के बाहर से ही दूसरी मंजिल पर चढ़ गया और उसने इस दौरान 12-14 छात्रों की जान भी बचाई. हालांकि केतन को ज्यादा लोगों को न बचा पाने का दुख भी है. केतन की बहादुरी इलाके में चर्चा का विषय बन गई है. बता दें कि केतन को देखकर कई और लोगों में भी हिम्मत आई थी और उन्होंने भी मदद करना शुरू कर दिया था.
Loading...



कोचिंग सेंटर्स बंद
इस दर्दनाक घटना के बाद सख्त कदम उठाते हुए अहमदाबाद कम्युनिसिपल ने शहर की सभी ट्यूशन क्लासेज को बंद करने का आदेश दिया है. सूरत के सरथाना स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में कोचिंग सेंटर भी चलता है, जिसमें शुक्रवार को बच्चे आम दिनों की तरह पढ़ने आए थे. इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें साफ नजर आ रहा है कि कई छात्रों ने घबराहट में बिल्डिंग से छलांग लगा दी.



आग इतनी भयंकर थी कि उसे बुझाने में 19 दमकल गाड़ियों को लगाना पड़ा था. अहमदाबाद म्युनिसिपल कमिश्नर विजय नेहरा ने कहा, अगर हमें हादसों से बचना है और लोगों की जिंदगियां बचानी हैं तो हमें कुछ कड़े फैसले लेने होंगे. मैंने अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के अफसरों को अगले आदेश तक शहर की सभी ट्यूशन क्लासेज को बंद करने का आदेश दिया है.

सीएम-पीएम ने जताया दुःख
गुजरात के सीएम रुपाणी ने इस घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने शहरी विकास विभाग के प्रधान सचिव मुकेश पुरी को घटनास्थल पर पहुंचने का आदेश दिया और देर शाम अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने कहा, सीढ़ियों के पास लगी आग के कारण कई लोग बिल्डिंग की चौथी मंजिल से कूद गए.



सीएम ने मरने वालों के परिवारवालों को 4 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है. इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस चीफ राहुल गांधी, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव समेत अन्य पार्टियों के नेताओं ने शोक जताया.

ये भी पढ़ें:  

आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी पार्टी में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: मोदी के ये सात 'ब्रह्मास्त्र', जिनके आगे ढ़ेर हुआ पूरा विपक्ष

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...