होम /न्यूज /gujarat /

महिला से पुरुष बन की थी शादी, ऊंट के खाल से बना लिंग, पढ़िए डॉक्टर विराज की पूरी कहानी

महिला से पुरुष बन की थी शादी, ऊंट के खाल से बना लिंग, पढ़िए डॉक्टर विराज की पूरी कहानी

वडोदरा की ऋतू के साथ शादी के समय आरोपी डॉ विराज वर्धवान  (फोटो-न्यूज़18)

वडोदरा की ऋतू के साथ शादी के समय आरोपी डॉ विराज वर्धवान (फोटो-न्यूज़18)

वडोदरा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद डॉ. विराज के विभिन्न परीक्षण किए गए. उनके लिंग परीक्षण से पता चला कि वह लड़का नहीं लड़की हैं. इसके अलावा यह बात सामने आई है कि जेंडर चेंज के लिए उनकी जो सर्जरी हुई वह असफल रही थी. यह भी पता चला कि उनका वर्तमान लिंग ऊंट की खाल से बना है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

वड़ोदरा की महिला ने पति पर महिला होने का आरोप लगाया है.
पुलिस ने आरोपी के लिंग परिक्षण के बाद महिला होने की पुष्टि की है.
आरोपी का लिंग परिवर्तन ऑपरेशन भी असफल रहा था.

वडोदरा: शहर में तीन दिन पहले एक मामला सामने आया है, जिसकी चर्चा प्रदेश ही नहीं पूरे देश में हो रही है. वडोदरा की एक महिला ने अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. महिला का कहना है कि शादी के वक्त उसका पति पुरुष नहीं बल्कि महिला था और उसने यह बात सबसे छुपायी. महिला की शिकायत के बाद वडोदरा पुलिस ने आरोपी डॉक्टर विराज वर्धन (Viraj Vardhan) को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि गिरफ्तारी के बाद पुलिस के लिए सबसे बड़ा सवाल यह है कि आरोपी को पुरुष माना जाए या महिला? दूसरी ओर पुलिस अब भी दुविधा में है कि विराज से कौन सवाल करे- महिला पुलिस या पुरुष पुलिस? हालांकि पुलिस ने अब इसका हल निकाल लिया है, लेकिन फिर भी इस मामले ने राष्ट्रीय स्तर पर काफी सुर्खियां बटोरी हैं.

जानिए क्या है पूरा मामला?
वडोदरा की एक महिला ने पति की मौत के बाद दूसरी शादी कर ली. महिला ने मैट्रिमोनियल साइट के जरिए दिल्ली के डॉ. विराज से मुलाकात की. दरअसल, डॉ. विराज शादी से पहले एक महिला थे और सर्जरी के जरिए पुरुष बने. डॉक्टर विराज ने यह बात शिकायतकर्ता से छुपाई. इस मामले में शिकायत के बाद पुलिस ने डॉक्टर विराज को गिरफ्तार कर लिया है.

यौन जांच से साबित हुआ कि विराज एक लड़की हैं
वडोदरा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद डॉ. विराज के विभिन्न परीक्षण किये गए. जिसमें उनके लिंग परीक्षण से पता चला कि वह लड़की हैं, लड़का नहीं. इसके अलावा यह बात सामने आयी है कि जेंडर चेंज के लिए उनकी जो सर्जरी हुई वह असफल रही थी. यह भी पता चला कि उनका वर्तमान लिंग ऊंट की खाल से बनाया गया है. हालांकि, यह किसी काम का नहीं है. विराज को आज भी महिलाओं की भांति बैठकर पैशाब करनी पड़ती है.

जन्म से लड़की हैं डॉक्टर विराज
पुलिस जांच में सामने आया कि डॉ. विराज जन्म से एक लड़की हैं. कॉलेज के दौरान उन्होंने महसूस किया कि वह एक महिला नहीं बल्कि एक पुरुष हैं. जिसके बाद उन्होंने एक महिला से पुरुष में बदलने के लिए हार्मोन इंजेक्शन लेना शुरू कर दिया. उन्होंने हार्मोन इंजेक्शन लेने के बाद अपने स्तनों को निकलवा दिया था. बीएससी पूरी करने के बाद, विराज एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए रूस चले गये. वास्तव में उनका नाम विजेयता था. बाद में उन्होंने अपना नाम विराज रखा और अन्य दस्तावेजों में भी अपना नाम बदल लिया. यह भी बताया जाता है कि उन्होंने एक लड़की से शादी की थी लेकिन एक साल के भीतर ही उनका तलाक हो गया था.

विजेयता से विराज नाम रखने के बाद शख्स ने नए नाम से अपना पासपोर्ट बनवा लिया था. (फोटो-न्यूज़18)

वडोदरा की लड़की से की शादी
बाद में डॉ. विराज ने वडोदरा की इस शिकायतकर्ता लड़की से मैट्रिमोनियल साइट के जरिये मिलकर शादी कर ली. हालांकि इस दौरान वह तरह-तरह के बहाने बनाकर शारीरिक संबंध बनाने से दूर रहे. साथ ही रूस में एक्सीडेंट होने की बात कहकर लिंग छोटा होने का बहाना बनाया करते थे. बाद में वो कोलकाता गए और लिंग परिवर्तन का ऑपरेशन कराया. 

विराज की मुलाकात रीता से मैट्रिमोनियल साइट के जरिये हुई. विराज से शादी के पहले रीता के पहले पति की मौत हो चुकी थी. शादी के बाद विराज और रीता के जॉइंट बैंक अकाउंट का विवरण. (फोटो-न्यूज़18)

दुविधा में पुलिस
एक पुलिस अधिकारी ने अंग्रेजी दैनिक टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, “वर्धन ने एक पुरुष होने का दावा किया, उन्होंने एक लिंग परिवर्तन ऑपरेशन भी कराया. हालांकि, जैविक रूप से वह एक महिला हैं. अब समस्या यह है कि यदि आरोपी एक महिला है तो उससे एक महिला पुलिस पूछताछ करती है. जबकि पुरुष के मामले में, पुरुष पुलिस पूछताछ करती है. इस मामले में, हम भी इस दुविधा में हैं कि क्या किया जाए?”

पुलिस ने पूछताछ के लिए निकाला बीच का रास्ता
पुलिस ने आगे कहा कि पुरुष पुलिस की एक टीम ने वर्धन को दिल्ली से गिरफ्तार किया और उन्हें वडोदरा ले आयी. विराज वर्धन की मूंछ दाढ़ी थी, उनकी आवाज एक आदमी की तरह लग रही थी. हालांकि पूछताछ में पता चला कि वह जैविकरूप से महिला हैं. इसलिए हमने पूछताछ के दौरान महिला और पुरुष दोनों पुलिसकर्मियों को मौजूद रखने का फैसला किया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि अस्पताल में मेडिकल जांच के दौरान महिला और पुरुष दोनों को मौजूद रखा गया. क्योंकि हम विराज को स्त्री और पुरुष दोनों मानते हैं.

Tags: Gujrat news, Illegal Marriage, Marriage news, Same Sex Marriage

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर