लाइव टीवी

सड़कों पर भीख मांगने वाला युवक निकला करोड़पति घर का वारिस, दो साल बाद लौटा घर
Ambala News in Hindi

Krishna Bali | News18 Haryana
Updated: January 13, 2020, 2:49 PM IST
सड़कों पर भीख मांगने वाला युवक निकला करोड़पति घर का वारिस, दो साल बाद लौटा घर
आजमगढ़ का धनंजय ठाकुर अम्बाला मेें इस हालत में मिला.

धनंजय ने पहले अपना नाम धर्मेन्द्र बताया था लेकिन जब उसकी छोटी बहन (Younger Sister) नेहा से बात हुई तो उसने पूरी सच्चाई बताई. धनंजय अच्छे परिवार (Family) का पढ़ा लिखा लड़का है लेकिन नशे की आदत ने उसकी हालत यह कर दी.

  • Share this:
अंबाला. कैंट की सड़कों पर दो साल से भीख मांग रहा एक युवक आजमगढ़ (Azamgarh) के करोड़पति घर का निकला. बताया जा रहा है कि मानसिक स्थिति बिगड़ने पर घर से चला आया था. उसे अब चचेरे भाई का मोबाइल नंबर याद आया तो परिवार से मिलना हुआ. युवक नशे का आदी होने के चलते घर से भागकर अंबाला पहुंचा और उसकी बुरी आदतों ने उसे भिखारी बना दिया. इस मामले का खुलासा तब हुआ जब अंबाला की गीता गोपाल संस्था ने बड़े बड़े बालों वाले एक युवक को घायल अवस्था में देखा.

इसके बाद संस्था से जुड़े साहिल ने उसकी मदद करनी चाही, लेकिन युवक तैयार नहीं हुआ. जैसे तैसे उसे मनाया गया और उसे फर्स्ट एड दिया गया. इस दौरान साहिल ने उससे उसके परिवार के बारे में जानना चाहा. युवक ने काफी पूछताछ के बाद उसे अपने भाई का शिशुपाल का मोबाइल नंबर दिया जिसके बाद पूरी कहानी पता चल पाई.

धनंजय ने पहले अपना नाम धर्मेन्द्र बताया था, लेकिन जब उसकी छोटी बहन नेहा से बात हुई तो उसने पूरी सच्चाई बताई. धनंजय अच्छे परिवार का पढ़ा लिखा लड़का है, लेकिन नशे की आदत ने उसकी हालत यह कर दी. वह दो बहनों का इकलौता भाई है. धनंजय पहले दिल्ली में नौकरी करता था, उसके बाद अंबाला आ गया, लेकिन पिछले दो साल से परिवार के साथ उसका कोई संपर्क नहीं था.



भाई को लेने पहुंची बहन




बहन वापस ले गई आजमगढ़
धनंजय अंबाला में भीख मांग कर गुजारा कर रहा था. गीता गोपाल संस्था के लोगों ने धनंजय के परिवार से संपर्क किया और उसकी बहन नेहा उसे अंबाला से वापस आजमगढ़ ले गई. परिजनों ने बताया की वो पिछले दो साल से लापता था.

धनंजय के पिता कोलकाता की कंपनी में हैं बड़े पद पर
नेहा ने बताया कि उनके पिता राधेश्याम सिंह कोलकाता की एक बड़ी कंपनी में एचआर विभाग में बड़े पद पर तैनात हैं. धनंजय दो बहनों का इकलौता भाई है और उसने ग्रेजुएशन किया है. दो साल पहले उसे नशे की लत लग गई थी. इसकी वजह से मानसिक संतुलन खराब रहने लगा और एक दिन धनंजय परिजनों को बिना बताए ही कहीं चला गया, जो अब मिला है.

यह भी पढ़ें- 

नशे और रफ्तार का कहर: कार चालक ने कई वाहनों को मारी टक्कर, 2 बाइक सवार समेत तीन घायल
8वीं की छात्रा से गैंगरेप मामला: 4 महीने बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा एक आरोपी, दूसरा गिरफ्त से बाहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अंबाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 1:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading