मास्क न पहनने पर हरियाणा के इस जिले में काटे गए करीब एक करोड़ के चालान

मास्क ने पहनने वालों के काटे चालान
मास्क ने पहनने वालों के काटे चालान

Corona Virus: सरकार द्वारा मास्क नहीं पहनने वालो पर की जा रही कार्यवाही का आमजन ने स्वागत किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2020, 9:19 AM IST
  • Share this:
अंबाला. कोरोना महामारी के मद्देनजर सरकार द्वारा मास्क (Mask) नहीं पहनने पर 500 रुपये के चालान काटने का नियम बनाया गया है. जिसके अंतर्गत अंबाला (Ambala) जिले में लगभग 1 करोड़ रुपये मास्क नहीं पहनने पर आमजन से वसूले जा चुके है. तो वही नेताओं की जनसभाओं और रैलियों में मास्क के चालान नहीं काटे जाते. यहां तक की जो नेता बिना मास्क पहने भाषण दे रहे होते है उसके भो चालान नहीं काटे जाते. इसको लेकर आमजन में भारी रोष है. आमजन द्वारा सरकार पर एकतरफा कार्यवाही करने के आरोप लग रहे हैं.

बता दें कि कोरोना महामारी के मद्देनजर सरकार द्वारा मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये के चालान काटे जा रहे है. जिसके अंतर्गत अंबाला जिले से लगभग 1 करोड़ रुपय के चालान अभी तक काटे जा चुके है. तो वही सूबे के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज द्वारा बीती 30 अक्टूबर को मास्क नहीं पहनने वालों पर कड़ी कार्यवाही और चालान करने के निर्देश प्राप्त होने के बाद से अब यह प्रक्रिया और अधिक तेज कर दी गई है.

मास्क नहीं पहनने पर काटे चालान



इसी कड़ी में अंबाला पुलिस द्वारा बीती 30 अक्टूबर से लेकर अब तक 7 लाख रुपय तो वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जुलाई से लेकर अब तक 64 लाख और नगर निगम अधिकारियों द्वारा 8 लाख के चालान काटे जा चुके है. इसके इलावा पंचायती राज के अधिकारी और अलग अलग विभागों के अधिकारी भी मास्क नहीं पहनने पर चालान काट रहे हैं.
एकतरफा कार्रवाई के आरोप

तो दूसरी ओर सरकार द्वारा मास्क नहीं पहनने वालो पर की जा रही कार्यवाही का आमजन ने स्वागत किया. लेकिन उनका कहना है कि सरकार द्वारा कोरोना महामारी के मद्देनजर लागू किये जा रहे सारे नियम कानून क्या सिर्फ और सिर्फ आमजनता पर ही लागू होते है. बड़े बड़े अधिकारियों और नेताओं पर क्यों नहीं. उन्होंने सरकार पर एकतरफा कार्यवाही करने के आरोप लगाए. उनका कहना है कि कानून सभी के लिए एक बराबर है तो फिर यह पक्षपात क्यूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज