• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • अनिल विज का केजरीवाल पर पलटवार, कहा-दिल्ली में होने वाले प्रदूषण के कारण दिल्ली में ही खोजें

अनिल विज का केजरीवाल पर पलटवार, कहा-दिल्ली में होने वाले प्रदूषण के कारण दिल्ली में ही खोजें

अनिल विज ने कहा कि केजरीवाल की तो राजनीति यही है कि वह हर चीज के लिए सारी दुनिया को दोष देते हैं.

अनिल विज ने कहा कि केजरीवाल की तो राजनीति यही है कि वह हर चीज के लिए सारी दुनिया को दोष देते हैं.

अनिल विज ने कहा कि केजरीवाल यह बताएं कि जब पराली नहीं जल (Burning Straw) रही होती है तब दिल्ली के प्रदूषण का पूरे साल लेवल क्यों बढ़ा रहता है?

  • Share this:
अंबाला. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) द्वारा दिल्ली में प्रदूषण (Pollution in Delhi) को लेकर हरियाणा और पंजाब (Haryana and Punjab) को जिम्मेवार ठहराने और धरना देने के बयान पर अनिल विज (Anil Vij) ने पलटवार किया है. हरियाणा के भाजपा नेता और अंबाला छावनी से विधायक अनिल विज ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा प्रदूषण मामले में धरना देने पर ही सवाल उठाए हैं. विज ने कहा कि केजरीवाल यह बताएं कि जब पराली नहीं जल (Burning Straw) रही होती है तब दिल्ली के प्रदूषण का पूरे साल लेवल क्यों बढ़ा रहता है?  विज ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली में होने वाले प्रदूषण के कारण दिल्ली में ही खोजें. वह इसके लिए पंजाब और हरियाणा के किसानों (Farmers) को जिम्मेवार नहीं ठहराएं. विज ने केजरीवाल पर हल्ला बोलते हुए यहां तक कहा कि केजरीवाल की तो राजनीति यही है कि वह हर चीज के लिए सारी दुनिया को दोष देते हैं.

अनिल विज ने कहा कि पराली नहीं जलाए जाने को लेकर हरियाणा और पंजाब के किसानों पर पूरी तरह से सख्ती की जा रही है. किसानों की बड़ी समस्या है कि आखिरकार पराली जाए कहां ?

अनिल विज ने कहा कि किसानों की बड़ी समस्या है कि आखिरकार पराली जाए कहां ?


सांस और दमे के रोगियों की परेशानी बढ़ी

बता दें कि दिल्ली एनसीआर सहित गुरुग्राम का पॉल्यूशन लेवल खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. गुरुग्राम का पॉल्यूशन लेवल यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स गुरुवार को 338 पार कर चुका है जिसकी वजह से सांस और दमे के रोगियों की परेशानी भी बढ़ गई है. पराली जलाने के बाद दिवाली में पटाखे जलाने से हवा पूरी तरह से दूषित हो गई है.

किसानों पर FIR

हरियाणा में कुरुक्षेत्र के डिप्टी डायरेक्टर एग्रीकल्चर प्रदीप कुमार ने बताया कि शहर में पराली जलाने के 56 मामले प्रकाश में आए हैं. इसके चलते किसानों के विरुद्ध कुरुक्षेत्र जिला के विभिन्न थानों में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. उन्होंने कहा कि पराली जलाने से धरती की सेहत खराब होने के साथ-साथ आम लोगों को भी सांस लेने में दिक्कत आती है.

ये भी पढ़ें - 50 साल के शख्स ने बर्थडे के बहाने 3 मासूमों को घर बुलाया, फिर किया दुष्कर्म

ये भी पढ़ें - सिद्धू को इमरान ने फिर दिया न्यौता, विज बोले-पाक के ही रिप्रजेंटेटिव हैं वो

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज