लाइव टीवी

JNU हिंसा पर विज बोले- शिक्षा के मंदिर में जब-जब होगा राजनीतिज्ञों का प्रवेश, तब-तब होगा खराबा
Ambala News in Hindi

Krishna Bali | News18 Haryana
Updated: January 6, 2020, 1:52 PM IST
JNU हिंसा पर विज बोले- शिक्षा के मंदिर में जब-जब होगा राजनीतिज्ञों का प्रवेश, तब-तब होगा खराबा
JNU हिंसा पर अनिल विज ने कही ये बात

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि जब-जब शिक्षा के मंदिर में राजनीतिज्ञों का प्रवेश होगा तब-तब खराबा होगा. विज ने यहां राहुल गांधी (Rahul Gandhi), सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी पर हल्ला बोलते हुए कहा कि ये इन नेताओं के बार बार यूनिवर्सिटी में जाने का नतीजा है.

  • Share this:
अंबाला. JNU में रविवार रात छात्र गुटों में हुई हिंसा के बाद सियासी दल एक दूसरे पर आरोप लगाने में जुट गए हैं. जहां विरोधी दल सरकार पर आरोप लगा रहे हैं तो वहीं हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा कि जब-जब शिक्षा के मंदिर में राजनीतिज्ञों का प्रवेश होगा तब-तब खराबा होगा. विज ने यहां राहुल गांधी (Rahul Gandhi), सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी पर हल्ला बोलते हुए कहा कि ये इन नेताओं के बार बार यूनिवर्सिटी में जाने का नतीजा है.

वहीं पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर शुक्रवार को भीड़ के हमले के अगले दिन शनिवार को पेशावर में एक सिख युवक रविंदर सिंह (25) की हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद पूरे भारत में पाकिस्तान पर सख्त कार्रवाई की आवाज़ उठने लगी है. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने भी मामले में तीखी प्रतिक्रिया दी है. अनिल विज ने कहा कि हिंदुस्तान में नागरिकता कानून का विरोध कर रही पार्टियों को ये देखना चाहिए और सरकार ने ये बिल लागू ही इसीलिए किया है ताकी पडोसी देशों में प्रताड़ित लोगों को अच्छी जिंदगी दी जा सके.

'ओच्छी हरकतों में उतर आया पाकिस्तान'

नागरिकता संशोधन कानून भारत में लागू होने के बाद से ही तलीमिला रहा पाकिस्तान अब ओछी हरकतों पर उतर आय आया है. पहले ननकाना साहिब पर पत्थर बाजी और अब सिख युवक की हत्या के मामले ने पाकिस्तान की पोल खोलकर रख दी है. वहीं पाकिस्तान की इन हरकतों से पूरे भारत से कार्रवाई की आवाज उठने लग गई है. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने मामले में तीखी प्रतिक्रिया देते हुए विपक्षी दलों पर तंज कसा है.

'विपक्षी दलों को नहीं समझ'

विज ने कहा कि भारत के विपक्षी दलों को समझ नहीं है. भारत में ये कानून लागु ही इसीलिए किया है ताकि पड़ोसी देशों में प्रताड़ित लोगों को अच्छी जिंदगी दी जा सके. विज ने कहा कि देश में नागरिकता कानून का विरोध कर रही पार्टियों को ये देखना चाहिए.

यह भी पढ़ें-ओपी चौटाला के बयान पर दुष्यंत का पलटवार, कहा- क्या पता मैं मुख्यमंत्री बन जाऊंयह भी पढ़ें- CM खट्टर को लेकर बोले अनिल विज- मेरा मुख्यमंत्री से कोई विवाद नहीं, वो हमारे मुखिया हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अंबाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2020, 1:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर