Home /News /haryana /

राजनीतिक समर्थन मांगने कभी डेरों में नहीं गयाः अनिल विज

राजनीतिक समर्थन मांगने कभी डेरों में नहीं गयाः अनिल विज

दुष्यंत चौटाला के आरोपों पर भड़के अनिल विज

दुष्यंत चौटाला के आरोपों पर भड़के अनिल विज

अनिल विज ने कहा कि हो सकता है कि 75 पार का यह नारा उससे भी बढ़कर आगे चला जाए. लेकिन ऐसे में राजनीति करने में मजा नहीं आएगा कम से कम एक दो को तो जीत कर विपक्ष में बैठना चाहिए.

अंबाला. हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने स्पष्ट कर दिया कि इस चुनाव (Election) में वह किसी डेरे के पास समर्थन लेने नहीं जाएंगे, और न ही वह कभी गए हैं. हालांकि विज ने अपनी इस प्रतिक्रिया को निजी प्रतिक्रिया बताया और पार्टी के फैसले पर अनभिज्ञता दिखाई.

बता दें कि हरियाणा में विधानसभा चुनावों को लेकर राजनीतिक पारा दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है सभी पार्टियां एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही है. आरोप-प्रत्यारोप के उसी दौर में दुष्यंत चौटाला ने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा जेजेपी के उम्मीदवारों का किडनैप कर के उनसे नामांकन वापिस करवा रही है.

दुष्यंत के आरोपों पर दिया जवाब

दुष्यंत के इस आरोप से तिलमिलाए अनिल विज ने भी दुष्यंत के आरोपों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया और उन्हें दो टूक जवाब दे डाला कि यह अपनी हार को देख कर पगला गया है. विज ने कहा कि  वो अपने खुले घूम रहे उम्मीदवार से जा कर पूछें कि उन्होंने नामांकन वापस क्यों लिया.

दुष्यंत के बयान पर भड़के

दुष्यंत ने भाजपा पर यह भी आरोप लगाए कि भाजपा ने प्रदेश में नौकरियों के नाम पर पैसे का खूब लेनदेन किया. विज ने दुष्यंत चौटाला के इन आरोपों पर प्रतिक्रिया जाननी चाही तो विज फिर भड़क गए और उन्होंने दुष्यंत पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके दादा इसी मामले में जेल में हैं. लिहाजा उन्हें यही सब दिखेगा जो कुछ वो करते रहें हैं.

नहीं आएगा राजनीति करने का मजा

विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री सहित भाजपा के शीर्ष नेताओं द्वारा 75 पार के नारे और लगातार विपक्षी पार्टियों के नेताओं द्वारा भाजपा में शामिल होने पर भी विज ने अपनी प्रतिक्रिया दी. विज ने कहा कि हो सकता है कि 75 पार का यह नारा उससे भी बढ़कर आगे चला जाए. लेकिन ऐसे में राजनीति करने में मजा नहीं आएगा कम से कम एक दो को तो जीत कर विपक्ष में बैठना चाहिए.

ये भी पढ़ें:- बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने अपने ही नेता के खिलाफ बाजार में किया विरोध प्रदर्शन 

ये भी पढ़ें- आतंकवादियों के मरने पर रोती हैं सोनिया गांधी: CM खट्टर

Tags: Haryana Assembly Election 2019, Haryana Election 2019, Haryana politics

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर