सुषमा स्वराज को बुआ कह कर पुकारते थे बच्चे
Ambala News in Hindi

सुषमा स्वराज को बुआ कह कर पुकारते थे बच्चे
सुषमा स्वराज को बुआ कहते थे बच्चे

सुषमा के अंबाला स्थित घर में काम करने वाली नौकरानी का कहना है कि वह सुषमा जी को बुआ जी के नाम से पुकारती थी और सुषमा भी उन्हें बहुत प्यार करती थी.

  • Share this:
राजनीति की प्रखर वक्ता ओर हँसमुख चेहरे वाली अम्बाला की बेटी सुषमा स्वराज सबको बिलखता छोड़ कर चली गई. उनका अम्बाला वासियों ओर देश की राजनीति में अहम योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा. अंबाला में सुषमा स्वराज के मोहल्ले में रहने वाली एक महिला का कहना है कि सुषमा जी जब कभी भी अंबाला में आती थी तो बच्चे उन्हें बुआ के नाम से पुकारा करते थे और जब वे अम्बाला आती थी तो उस समय गाड़ी में से ही हाथ हिलाकर बच्चों को सहलाती थी. उनका कहना है कि वह और उनका परिवार और मोहल्ला वासी सुषमा के प्यार को कभी भुला नहीं पाएंगे.

अपनी नौकरानी को भी बहुत प्यार करती थी सुषमा

वहीं सुषमा के अंबाला स्थित घर में काम करने वाली नौकरानी का कहना है कि वह सुषमा जी को बुआ जी के नाम से पुकारती थी और सुषमा भी उन्हें बहुत प्यार करती थी. वह पिछले 6 सालों से उनके घर में काम कर रही है और जब भी सुषमा जी आती थी तो उन्हें खूब प्यार करती थी. जिस चीज को हम भुला नहीं पाएगी.



हाथ पकड़ कर सिखाया करती थी राजनीति के गुण
वहीं भारतीय जनता पार्टी की नेता बनी मुनिया का कहना है कि जब वह 13 साल की थी तो सुषमा स्वराज उनका हाथ पकड़कर उन्हें राजनीति के गुण सिखाए करती थी और उन्हें कैसे भाषण देना है इसके बारे में भी बताया करती थी. उनका कहना है कि वह सुषमा को अपनी मां के समान समझती थी और उनका बहुत आदर करती थी.

मुनिया कहना है कि उनकी वजह से ही आज भी अंबाला की राजनीति में बनी हुई है. मुनिया का कहना है कि यह दुखद समाचार सुनकर उन्हें बहुत झटका लगा और उनका कहना है कि भगवान सुषमा स्वराज की आत्मा को शांति प्रदान करें.

ये भी पढ़ें- इस लोकसभा सीट से लगातार 3 बार चुनाव हारीं थीं सुषमा स्वराज

ये भी पढ़ें- सुषमा स्वराज को दोस्त बोले- आज हमारे शरीर का एक अंग क्षति हो गया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज