होम /न्यूज /हरियाणा /

PHC Site Hacking: हैकिंग से जन्मा फर्जी सर्टिफिकेट, जानें कैसे पुलिस ने बिगाड़ दिया पूरा खेल

PHC Site Hacking: हैकिंग से जन्मा फर्जी सर्टिफिकेट, जानें कैसे पुलिस ने बिगाड़ दिया पूरा खेल

अंबाला के नहोनी गांव में बनी PHC की साइट को पिछले दिनों हैकर्स ने हैक कर लिया था.

अंबाला के नहोनी गांव में बनी PHC की साइट को पिछले दिनों हैकर्स ने हैक कर लिया था.

Illegal Birth Certificate in Ambala: अंबाला के नहोनी गांव में बनी PHC की साइट को पिछले दिनों हैकर्स ने हैक कर लिया था. हैक करने के बाद 6 जन्म प्रमाण पत्र भी बना दिए गए. जब इसका पता स्वास्थ्य विभाग को लगा तो हड़कंप मच गया.

अंबाला. हैकिंग आजकल काफी आम हो गई है. शातिर दिमाग वाले आसानी से कुछ भी हैक कर लेते हैं और फिर उसका गलत फायदा उठाते हैं. ऐसा ही एक मामला जब अंबाला में सामने आया तो स्वास्थ्य विभाग परेशान हो उठा. दरअसल एक शातिर ने पीएचसी की साइट हैक करके फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बना दिए. इसकी जानकारी मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग के होश उड़ गए. साइबर थाने की मदद से अब फर्जी सर्टिफिकेट बनाने वाले शातिर को गिरफ्तार किया गया है. आइए आपको ​पूरा मामला बताते हैं…

अंबाला के नहोनी गांव में बनी PHC की साइट को पिछले दिनों हैकर्स ने हैक कर लिया था. हैक करने के बाद 6 जन्म प्रमाण पत्र भी बना दिए गए. जब इसका पता स्वास्थ्य विभाग को लगा तो हड़कंप मच गया. इसके बाद साइबर थाने में शिकायत दर्ज की गई. गहन पड़ताल के बाद पुलिस ने यूपी के रहने वाले दीपक कुमार नाम के शख्स को गिरफ्तार कर लिया है. दीपक के साथ एक और शातिर संत राज शर्मा भी लिप्त था. उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

फेसबुक पर डाला विज्ञापन
शातिर दीपक कुमार ने जब पीएचसी की साइट हैक कर ली तो उसने फेसबुक पर जन्म प्रमाण पत्र बनाए जाने का विज्ञापन डाला. यह विज्ञापन देखकर कई लोगों ने दीपक से सम्पर्क किया. चूंकि दीपक ने साइट हैक की हुई थी इसलिए उसने बिना दिक्कत लोगों को सर्टिफिकेट बनाकर दे दिए. इतना ही नहीं साइट पर इन सर्टिफिकेट पर अपडेट भी कर दिया. सर्टिफिकेट बनाने के लिए रुपये लेने का खेल भी ऑनलाइन ही हो गया. ऐसे में कुछ दिनों तो सरकारी विभाग को इस हैकिंग का पता ही नहीं चला.

साइबर थाना इंस्पेक्टर मुनीष कुमार के अनुसार हैकिंग करने वाले काफी शातिर हैं. इन्हें पकड़ने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. दीपक मास्टरमाइंड है. इन्होंने अपने सारे डिवाइस बंद कर दिए थे लेकिन पुलिस ने इन्हें काबू कर लिया है. अब रिमांड पर लेकर बाकी लोगों की जानकारी भी जुटाई जाएगी. पुलिस को शक है कि इस फर्जीवाड़े के तार आगे तक जुड़े हो सकते हैं.

Tags: Birth Certificate, Hacking

अगली ख़बर