Haryana: राहुल गांधी के आरोपों पर भड़के अनिल विज, बोले-अपनी पार्टी की चिंता करें

राजस्थान में डस्टबिन में मिली वैक्सीन पर अनिल विज ने राहुल गांधी से मांगा जवाब.

राजस्थान में डस्टबिन में मिली वैक्सीन पर अनिल विज ने राहुल गांधी से मांगा जवाब.

Anil Vij’s Reaction To Rahul’s Statement:: अनिल विज ने कहा कि भाजपा का कौन नेता क्या बोलता है राहुल गांधी को इससे क्या लेना-देना, कमलनाथ क्या बोल रहे हैं, राहुल वो बताएं.

  • Share this:

अंबाला. पीएम मोदी की छवि बनाने के लिए भाजपा का कोई भी मंत्री कुछ भी बोल सकता है. ये बयान देकर कांग्रेसी नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) भाजपा के निशाने पर आ गए. राहुल गांधी के बयान पर हरियाणा के गृह मंत्री भी भड़क उठे. गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि राहुल गांधी अपनी पार्टी संभालें और ये बताएं कि कमलनाथ क्या बोल रहे हैं. विज ने राहुल गांधी को अपनी पार्टी संभालने की नसीहत देते हुए कहा कि भाजपा का कौन नेता क्या बोल रहा है, इस बात से राहुल गांधी को क्या लेना-देना, राहुल अपनी पार्टी की चिंता करें.

राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए अनिल विज यहीं नहीं रुके. राजस्थान में कूड़ेदानों में मिली वैक्सीन को लेकर भी अनिल विज ने राहुल गांधी और राज्य की कांग्रेस सरकार पर हमला बोला. विज ने कहा कि इन लोगों पर अपराधिक मुकदमे दर्ज होने चाहिए. विज ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और हर रोज राहुल गांधी टीके को लेकर केंद्र सरकार को कोसते हुए थकते नहीं. लेकिन अब राहुल गांधी जवाब दें कि जिस एक एक टीके के लिए लोग तरस रहे हैं और इन्होंने टीके को कूड़े में डाल रखा है.

आंदोलन को तेज करने के लिए 6 जून को हजारों किसान अंबाला से दिल्ली रवाना होंगे, लेकिन 6 महीने बीत जाने के बाद भी मसले का हल निकलता नहीं दिख रहा. इस मामले में आज हरियाणा के गृह मंत्री ने कहा कि भारत प्रजातांत्रिक देश है. यहां हर विचारधारा के लोगों को आंदोलन करने का अधिकार है , लेकिन कानून को कभी हाथ मे न लें.

हरियाणा में होम आइसोलेट मरीजों को बांटी जा रही किट्स की कीमत को लेकर हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने सवाल खड़े किए हैं. शैलजा ने कहा कि जिस किट को सरकार 5000 में दे रही है वो किट लगभग 800 रुपये की है. इस सवाल के जवाब में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार ने कोई किट खरीदी नहीं, बल्कि किट का सैंपल जिला उपायुक्तों को दिया है और अगर किसी ने कोई गड़बड़ की होगी तो जांच करवाई जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज