अपना शहर चुनें

States

COVID-19 वैक्सीन लेने के बाद मंत्री अनिल विज को हुआ कोरोना, 20 नवंबर को लगवाया था टीका

कोरोना संक्रमित पाए गए अनिल विज (फाइल फोटो)
कोरोना संक्रमित पाए गए अनिल विज (फाइल फोटो)

Harya COVID-19: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) को बीते 20 नवंबर को ही कोरोना वैक्सीन लगाया गया था, जिसके बाद वे फिर Corona पॉजिटिव पाए गए हैं. मंत्री ने खुद ट्वीट कर कोविड पॉजिटिव होने और सिविल अस्पताल अंबाला कैंट में भर्ती होने की जानकारी दी.

  • Share this:
अंबाला. हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) को एक बार फिर कोरोना हो गया है. कुछ ही दिन पहले कोरोन वायरस (Coronavirus) का वैक्सीन का ट्रायल करने वाले मंत्री एक बार फिर वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इसके बारे में उन्होंने खुद जानकारी दी है. अनिल विज ने ट्वीट कर कहा है कि मैं कोविड-19 जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं. मैं सिविल अस्पताल अंबाला कैंट (Ambala Cantt) में भर्ती हूं. यहीं पर मेरा इलाज चल रहा है. साथ ही उन्होंने अनुरोध करते हुए कहा है कि वे सभी जो मेरे निकट संपर्क में आए हैं, वे खुद कोरोना की जांच करवा लें.

पिछले पखवाड़े में बीते 20 नवंबर को ही कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के तीसरे चरण का पहला टीका गृह मंत्री अनिल विज को लगाया गया था. उन्हें अंबाला कैंट के नागरिक अस्पताल में यह टीका लगाया गया था. पीजीआई रोहतक की टीम की निगरानी में ही मंत्री विज ने वैक्सीन का टीका लगाया था. इसके बाद आधे घंटे तक उन्हें निगरानी में रखा गया था. इससे पहले रोहतक पीजीआई की टीम ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खून का नमूना लिया था.

कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रही है
तब पीजीआई रोहतक के वाइस चांसलर ने बताया था कि को-वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल शुक्रवार से शुरू हो गया है. सबसे पहले 200 वॉलंटियर्स को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दी जा रही है. बता दें कि हर वॉलंटियर्स को वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी. पहली डोज देने के 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी. बता दें कि भारत बायोटेक इंडियन कंपनी है जो Covaxin के नाम से कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रही है.





तीसरे चरण में 200 वॉलंटियर्स को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी
बता दें कि भारत बायोटेक कोवैक्सीन का निर्माण इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर कर रही है. पीजीआई रोहतक देश के उन तीन सेंटर में से एक है जहां तीसरे चरण में 200 वॉलंटियर्स को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी. वॉलंटियर्स को वैक्सीन लगाने के बाद उनके अंदर एंटीबॉडी की स्थिति के बारे में अध्ययन किया जाएगा. कंपनी के मुताबिक उनकी वैक्सीन 90 प्रतिशत तक कारगर साबित होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज