• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • करनाल किसान आंदोलन ने पकड़ी रफ्तार, गुरुनाम चढूनी की कॉल पर पंजाब से हजारों किसान रवाना

करनाल किसान आंदोलन ने पकड़ी रफ्तार, गुरुनाम चढूनी की कॉल पर पंजाब से हजारों किसान रवाना

करनाल किसान आंदोलन में जान फूंकने पंजाब से हजारों किसान रवाना.

करनाल किसान आंदोलन में जान फूंकने पंजाब से हजारों किसान रवाना.

Karnal Farmer Protest : किसान नेता गुरुनाम सिंह चढूनी की कॉल पर पंजाब से हजारों किसान करनाल के लिए रवाना हो गये हैं. पंजाब से करनाल जा रहे हजारों किसानों ने हरियाणा सरकार को कड़ी चेतावनी दी.

  • Share this:

अंबाला. कृषि कानूनों का विरोध में करनाल में मिनी सचिवालय में धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों के आंदोलन (Karnal Kisan Andolan) ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है. आज किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी (Gurunam singh Chaduni) की कॉल पर पंजाब के हजारों किसान हरियाणा-पंजाब के शंभू बॉर्डर (Punjab-Haryana Shambhu Border) से करनाल के लिए रवाना हुए. करनाल में मिनी सचिवालय (Mini Secretariat) के बाहर किसानों का धरना पहले ही जारी है. ऐसे में अब पंजाब के हजारों किसान भी आज करनाल कूच कर रहे है.

पंजाब से करनाल जा रहे हजारों किसानों ने हरियाणा सरकार को कड़ी चेतावनी दी. पंजाब से करनाल जा रहे हजारों किसानों ने हरियाणा सरकार को कड़ी चेतावनी दी. इसमें किसानों पर हुए लाठीचार्ज के बाद किसानों के आंदोलन ने एक बार फिर से रफ़्तार पकड़ ली ही है. जहां एक तरफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है.

करनाल मिनी सचिवालय में मोर्चे पर बैठे हैं हजारों किसान 

वहीं करनाल में किसान मिनी सचिवालय के बाहर पक्का मोर्चा लगाकर बैठ गए हैं. करनाल में किसानों के आंदोलन को और गति देने के लिए आज किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी की एक कॉल पर पंजाब के हजारों किसान हरियाणा-पंजाब के शंभू बॉर्डर से करनाल के लिए रवाना हुये हैं. पंजाब से करनाल कूच कर रहे किसानों ने हरियाणा सरकार को बड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि हरियाणा सरकार उनकी करनाल की मांग को मान ले, नहीं तो सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा. कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के आंदोलन ने एक बार फिर रफ़्तार पकड़ ली.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज