सुषमा स्वराज के जाने के बाद नहीं बचा अब दिल्ली का एक भी पूर्व मुख्यमंत्री

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्र में विदेश मंत्री रहीं व बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. उन्होंने 67 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा.

स्‍वतंत्र मिश्र | News18 Haryana
Updated: August 7, 2019, 12:38 PM IST
सुषमा स्वराज के जाने के बाद नहीं बचा अब दिल्ली का एक भी पूर्व मुख्यमंत्री
सुषमा स्वराज के जाने के बाद नहीं बचा अब दिल्ली का एक भी पूर्व मुख्यमंत्री (फाइल फोटो)
स्‍वतंत्र मिश्र | News18 Haryana
Updated: August 7, 2019, 12:38 PM IST
दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और केंद्र में विदेश मंत्री रहीं व बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. उन्होंने 67 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा. इससे पहले दिल्ली की एक और मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने सिर्फ 17 दिन पहले ही दुनिया से विदाई ली थी. इन दोनों मुख्यमंत्री की मृत्यु के बाद दिल्ली के सभी पूर्व मुख्यमंत्री अब भूतपूर्व सीएम की श्रेणी में शामिल हो गए. गौरतलब है कि सुषमा स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री थीं. सुषमा स्वराज का स्वास्थ्य काफी समय से उतार-चढ़ाव से भरा रहा. वे इंदिरा गांधी के बाद ऐसी दूसरी महिला नेत्री रहीं जिन्होंने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का भार संभाला. सुषमा का जुड़ाव मध्य प्रदेश से भी रहा है. उन्होंन विदिशा से लोकसभा का चुनाव भी जीता था.

सबसे कम उम्र की महिला विधायक बनने का गौरव

सुषमा स्वराज ने पहला चुनाव 25 साल की उम्र में हरियाणा की अंबाला सीट से  लड़ा था. वह सबसे कम उम्र में विधायक बनीं और हरियाणा की देवी लाल सरकार की कैबिनेट में मंत्री भी बनाई गईं.

सबसे कम उम्र की महिला विधायक बनने का गौरव (फाइल फोटो )
सबसे कम उम्र की महिला विधायक बनने का गौरव (फाइल फोटो )


दिल्ली को संवारने वाले सभी पूर्व सीएम अब नहीं रहे (फाइल फोटो)
दिल्ली को संवारने वाले सभी पूर्व सीएम अब नहीं रहे (फाइल फोटो)


दिल्ली को पहला और दूसरा सीएम कांग्रेस ने दिया. पहले सीएम चौधरी ब्रह्म प्रकाश 1952—1955, जबकि दूसरे सीएम जी एन सिंह 1955—56 रहे. चौधरी ब्रह्म प्रकाश सिर्फ 34 साल में दिल्ली के मुख्यमंत्री बनाए गए थे. उन्हें देश के दूसरे सबसे युवा मुख्यमंत्री होने का गौरव प्राप्त हुआ. वे स्वतंत्रता सेनानी भी थे. वे 85 साल की उम्र में 1993 में मरे थे. निहाल सिंह की मौत अप्रैल 1962 को हुई थी.

बीजेपी ने दिल्ली को अब तक तीन सीएम दिए
Loading...

दिल्ली में पहली बार मदन लाल खुराना बीजेपी से सीएम बने. उन्होंने वर्ष 1993—96 तक दिल्ली की बागडोर संभाली. मदन लाल खुराना की मौत 27 अक्टूबर 2018 को हो गई. दिल्ली में अगला सीएम बीजेपी से ही बना. वे साहिब सिंह वर्मा थे, जिन्होंने 1996—98 तक दिल्ली की सत्ता संभाली. साहिब सिंह की मौत 30 जून 2007 को हो गई थी. इसके बाद 1998 में दिल्ली की बागडोर सुषमा स्वराज को मिली. हालांकि यह जिम्मेदारी उन्हें सिर्फ एक महीने 20 दिन के लिए ही मिली थी. इसके बाद कांग्रेस की शीला दीक्षित दिल्ली की मुख्यमंत्री बनी और सबसे ज्यादा समय 15 वर्ष तक शासन चलाने का रिकॉर्ड उनके नाम ही रहा. वे वर्ष 1998—2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. दिल्ली के विकास में सबसे ज्यादा योगदान भी उनके नाम ही रहा.

1998 में दिल्ली की बागडोर सुषमा स्वराज को मिली (फाइल फोटो)
1998 में दिल्ली की बागडोर सुषमा स्वराज को मिली (फाइल फोटो)


दिल्ली और यूपी को ही मिले दो महिला सीएम

भारत में सिर्फ दिल्ली और उत्तर प्रदेश ही दो ऐसे राज्य हैं, जिसे दो महिलाओं को मुख्यमंत्री बनने का गौरव हासिल किया. उत्तर प्रदेश में पहली महिला मुख्यमंत्री सुचेता कृृपलानी रहीं जबकि  दूसरी सीएम मायावती रहीं. केरल और पश्श्चिम बंगाल दो ऐसे राज्य रहे हैं, जहां वामपंथी पार्टियों का शासन लंबे समय तक रहा है पर वहां कभी किसी महिला को मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया.

यह भी पढें- सुषमा स्वराज के प्रयास से ही अपने वतन लौटी थी 'हिंदुस्तान की बेटी' गीता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अंबाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...