• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान से हरियाणा में गरमाई सियासत, अनिल विज ने जताई नाराजगी

कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान से हरियाणा में गरमाई सियासत, अनिल विज ने जताई नाराजगी

विज ने कहा है कि कैप्टन के इस बयान से लगता है कि किसानों को भड़काने का काम उन्होंने ही किया है. (फाइल फोटो)

विज ने कहा है कि कैप्टन के इस बयान से लगता है कि किसानों को भड़काने का काम उन्होंने ही किया है. (फाइल फोटो)

कैप्टन अमरिन्दर सिंह (Capt Amarinder Singh) ने कहा कि पंजाब में 113 जगहों पर किसानों द्वारा किया जा रहा विरोध प्रदर्शन राज्य के हित में बिल्कुल भी नहीं है. इससे उसके आर्थिक विकास पर काफी असर पड़ा है

  • Share this:

अंबाला. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) द्वारा किसान आंदोलन को लेकर दिए गए बयान के बाद हरियाणा और पंजाब में सियासत पूरी तरह से गरमा गयी है. ऐसे में पंजाब के सीएम हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के निशाने पर आ गए हैं. गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के  बयान को बहुत ही गैर जिम्मेदाराना बताया है. दरअसल, पंजाब (Panjab) में लगभग 113 जगह पर किसान कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं. इसको लेकर सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि किसान हरियाणा या दिल्ली में जाकर जो चाहें करें, लेकिन पंजाब में न करें. इससे पंजाब का आर्थिक तौर पर नुक्सान हो रहा है. कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस बयान के बाद गुस्साए गृह मंत्री अनिल विज ने नाराजगी जाहिर की है. विज ने कहा है कि कैप्टन के इस बयान से लगता है कि किसानों को भड़काने का काम उन्होंने ही किया है.

बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को विभिन्न किसान यूनियनों के प्रतिनिधियों से अपील की थी कि वे केंद्र द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ राज्यभर में विरोध प्रदर्शन न करें क्योंकि राज्य सरकार और उसके लोगों ने पहले ही इसके साथ एकजुटता व्यक्त की है. किसान आंदोलन पर चिंता जाहिर करते हुए कैप्टन ने कहा-अगर आपको केंद्र सरकार पर दबाव बनाना है तो अपना आंदोलन दिल्ली- हरियाणा में की कीजिए. पंजाब को अपने आंदोलन से अशांत मत कीजिए.

राज्य भर में विरोध प्रदर्शन करने से बचना चाहिए
वह होशियारपुर के चब्बेवाल विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मुखलियाना में जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि जिस राज्य की जनता किसानों के जायज मुद्दों के पक्ष में उनके साथ चट्टान की तरह खड़ी हो, उसे भाजपा द्वारा पारित इन कृषि कानूनों के खिलाफ राज्य भर में विरोध प्रदर्शन करने से बचना चाहिए.

राज्य के हित में नहीं है प्रदर्शन
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पंजाब में 113 जगहों पर किसानों द्वारा किया जा रहा विरोध प्रदर्शन राज्य के हित में बिल्कुल भी नहीं है, इससे उसके आर्थिक विकास पर काफी असर पड़ा है और उम्मीद है कि आंदोलन करने वाले किसानों द्वारा उनके अनुरोध को स्वीकार किया जाएगा. शहीद भगत सिंह नगर के बल्लोवाल सौंखड़ी एक अन्य जनसभा में उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल ने खेती कानूनों के मुद्दे पर किसानों को धोखा दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज