लाइव टीवी

अंबाला में पटवारखाने की छत गिरी, बड़ा हादसा होने से टला

Krishna Bali | News18 Haryana
Updated: January 15, 2020, 3:54 PM IST
अंबाला में पटवारखाने की छत गिरी, बड़ा हादसा होने से टला
पटवारखाने की छत गिरी

बिल्डिंग में अम्बाला कैंट (Ambala cant) सब तहसील से संबंधित पुराना व नया राजस्व रिकार्ड विभिन्न बने कमरों में रखा गया है. नायब तहसीलदार (Tehsildar) का कहना है कि आज पटवारी मिल कर आये थे और इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेज दी है, जिसे जल्द शिफ्ट किया जाए.

  • Share this:
अंबाला. बीती रात रेलवे रोड पर स्थित 1932 की बनी एक खस्ताहाल "बिहारीलाल धर्मशाला" की बिल्डिंग (Building) में चलाये जा रहे पटवार खाने के मुख्य रास्ते की छत (Roof) गिर जाने से एक बड़ा हादसा होते-होते टला गया. यदि यह हादसा दिन के वक़्त हुआ होता तो न जाने कितने निर्दोष व्यक्तिओं की जान चली गई होती.

इस रास्ते से पटवार खाने में सम्पत्तिओं से सम्बंधित काम करवाने के लिए यहां हर रोज़ सैंकड़ों लोगों का आना जाना लगा रहता है. इस बिल्डिंग में अम्बाला कैंट सब तहसील से संबंधित पुराना व नया राजस्व रिकार्ड विभिन्न बने कमरों में रखा गया है. नायब तहसीलदार का कहना है कि आज पटवारी मिल कर आये थे और इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेज दी है, जिसे जल्द शिफ्ट किया जाए.

इस जर्जर कमरों बारे जानकारी होने के बावजूद भी आखिर प्रशासन लंबे समय से क्यो लापरवाही बरतता चला आ रहा है. आज इसी समस्या के चलते हुए सभी पटवारियों ने अंबाला छावनी के तहसीलदार को बिल्डिंग के खस्ताहाल होने की शिकायत देकर सुरक्षित व उचित स्थान उपलब्ध कराये जाने को कहा है.

इस बारे अंबाला छावनी के नायब तहसीलदार बोधराज सिंह ने बताया कि आज सभी पटवारियों ने उन्हें पटवारखाने की बिल्डिंग के खस्ताहाल होने और उनको पटवारखाने के लिए कोई सुरक्षित स्थान उपलब्ध करवाने हेतु शिकायत दी है. ये शिकायत उन्होंने SDM अम्बाला केंट को भिजवा दी है और जल्दी ही पटवारखाने के लिए उचित जगह का इंतज़ाम कर दिया जायेगा।

लीज पर दी गई है बिल्डिंग

दूसरी ओर कमल किशोर जैन सद्स्य सुशासन समन्वयक विभाग हरियाणा भाजपा ने बताया कि यह बिल्डिंग 90 वर्ष पूर्व लाला बिहारी लाल ट्रस्ट को लीज पर दी गई थी. 10 साल से ज्यादा समय पहले तत्कालीन उपायुक्त के आदेश पर नगर परिषद ने इस बिल्डिंग का कब्जा ले लिया था. जिला प्रशासन ने इस बिल्डिंग में पटवारखाना स्थानांतरित कर दिया था जिसमे कैंट तहसील से सम्बंधित राजस्व रिकार्ड इसमें बने कमरों में रखा हुआ है.

7-8 इलाके के पटवारी यहां करते हैं कामजैन ने बताया कि अब यह बिल्डिंग जर्जर हालत में है और यहां 7-8 इलाके के पटवारी काम करते हैं जिनके पास रोजाना सैकड़ों लोगों का आना जाना लगा रहता है. जैन ने बताया कि इस पटवारखाने कि सभी दीवारें जर्जर होने के साथ दो कमरों की छतें भी गिरी हुई हैं, लेकिन अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे. उन्होंने सरकार से ऐसी सभी कंडम बिल्डिंग का निरीक्षण करके इन्हें गिराया जाए व यहां कार्यरत कर्मचारियों को कहीं सुरक्षित जगह स्थानांतरित किया जाए.

ये भी पढ़ें:- गुरुग्राम में लोहड़ी के जश्न के दौरान फायरिंग, 3 लोग गोली लगने से घायल

ये भी पढ़ें:- कांग्रेस में वापसी पर तंवर का इनकार, कहा- जिसने धोखा दिया, उनके साथ वापसी नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अंबाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 3:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर