पत्नी और दो बच्चियों की हत्या कर किए थे टुकड़े, 6 महीने बाद बरामद हुए कटे सिर

शव देखने वाला हर शख्त सदमे में था. हो भी क्यों ना, ड्रम में जो तीन शव थे, वो सभी तेजधार हथियार से इस कदर काटे गए थे कि शुरुआती दौर में ये भी पता नहीं चल रहा था कि शव किसी महिला के हैं या पुरुष के.

Jagbir Ghangas | News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 10:45 AM IST
पत्नी और दो बच्चियों की हत्या कर किए थे टुकड़े, 6 महीने बाद बरामद हुए कटे सिर
आरोप की निशानदेही पर पुलिस ने बरामद किए शव
Jagbir Ghangas | News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 10:45 AM IST
इंसान के भेष में राक्षस बने राजेश कबाड़ी द्वारा अंजाम दी गई खौफनाक वारदात को आखिरकार भिवानी पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस ने तीन दिन पहले इस बेरहम पति और पिता को गिरफ्तार कर वारदात के बाद उसके द्वारा छुपाए गए तीन में से दो सिर बरामद कर लिए हैं. बता दें कि राजेश कबाड़ी ने ऐसी वारदात को अंजाम दिया था जिसे सुन कर आप ना केवल हैरान रह जाएंगे, बल्कि दहशत के मारे रोंगटे खङे हो जाएंगे.

क्या है मामला
मामला पिछले साल 28 दिसंबर का है. इस दिन रोहतक रोङ पर गांव खरक के खेतों में प्लास्टिक के एक ड्रम में तीन शव मिले थे. पुलिस जब सूचना पाकर मौके पर पहुंची तो हैरान रह गई. शव देखकर पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई. शव देखने वाला हर शख्स सदमे में था. हो भी क्यों ना, ड्रम में जो तीन शव थे, वो सभी तेज धार हथियार से इस कदर काटे गए थे कि शुरुआती दौर में ये भी पता नहीं चल रहा था कि शव किसी महिला के हैं या पुरुष के. यही नहीं ये वारदात उस समय पुलिस के लिए भी बहुत बड़ी पहेली बन गई जब इन तीनों शवों के सिर गायब मिले.

एसआईटी का गठन

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी गंगाराम पुनिया ने एसआईटी का गठन किया. लेकिन किसी शिकायतकर्ता के सामने आए बिना पुलिस के लिए यह पहेली सुलझाना आसान नहीं था. आखिरकार पुलिस ने ड्रम के पास मिले एक थैले के आधार पर मध्य प्रदेश के खुजराहो तक मृतकों के परिजनों और आरोपी की तलाश शुरू की. एसपी के निर्देश पर भिवानी पुलिस हरियाणा के साथ दिल्ली, यूपी और एमपी पुलिस की मदद ली.

पुलिस की मेहनत रंग लाई
आखिरकार पुलिस की मेहनत रंग लाई और जांच के दौरान पता चला कि जो शव हैं वो 34-35 वर्षीय एक महिला, 10-12 साल तथा एक 2-3 साल की दो लड़कियों के हैं. असम की रहने वाली ये महिला रोहतक गेट पर राजेश नामक कबाड़ी के पास उसकी पत्नी बनकर रह रही थी. ये महिला एक बेटी की मां थी और राजेश ने इसे पत्नी का दर्जा देते हुए अपने साथ रख लिया. कुछ दिनों बाद इनके घर एक और बेटी ने जन्म लिया. लेकिन कुछ सालों बाद जब राजेश कबाड़ी के घर वालों के उसके इस रिश्ते की भनक लगी तो उसने इस महिला को अपने यहां से जाने को कहा. बताया जाता है कि जाने के नाम पर महिला ने राजेश से खर्च के नाम पर करीब डेढ़-दो लाख रुपये मांगे. इस पर राजेश ने 27-28 दिसंबर की रात को अपने दो साथियों के साथ मिलकर तीनों मां-बेटियों को तेज धार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया था.
Loading...

सिर काट कर धड़ से कर दिए अलग
ना केवल मौत के घाट उतारा बल्कि इन बेरहम व जालिम लोगों ने तीनों के सिर काट कर अलग कर दिए. इसके बाद एक प्लास्टिक के ड्रम में तीनों धड़ों को रोहतक रोङ पर खरक गांव के खेतों में फेंक दिया. महीनों की मेहनत के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी राजेश के दो साथियों को गिरफ्तार किया. इसमें एक पूनम फौजी था और दूसरा मखन सिंह था. पूनम फौजी राजेश कबाड़ी का पार्टनर था और मखन सिंह दोनों का नौकर था, जो मध्य प्रदेश का रहने वाला था.

आऱोपी पर रखा था दो लाख का ईनाम
एसपी गंगाराम ने बताया कि पूनम फौजी को 26 जनवरी और मखन सिंह को 27 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था. दोनों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को मुख्य आरोपी राजेश और तीनों शवों के सिर मिलने की उम्मीद थी, लेकिन राजेश का काफी समय तक कोई सुराग नहीं लगा. जिसके चलते पुलिस ने उस पर दो लाख रुपये का इनाम रखा.

गुप्त सूचना के आधार पर किया गिरफ्तार
पुलिस अभी राजेश कबाड़ी की तलाश में जुटी हुई थी कि अचानक 28 जून को पता चला कि वो भिवानी आने वाला है. सूचना के आधार पर सीआईए पुलिस ने राजेश को गिरफ्तार किया. एसपी गंगाराम पूनिया ने 28 जून को बताया कि राजेश अपनी पत्नी व दो बेटियों की हत्या कर भाग गया था और दिल्ली में मजदूरी करने लगा था. राजेश की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने तीनों शवों के सिरों की तलाश के लिए कोंट गांव के पास जोहड़ में जेसीबी से खुदाई शुरू की. राजेश की निशानदेही पर शुरू की गई इस खुदाई में 29 जून को पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा. राजेश के साथ जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसकी निशानदेही पर एक जूलाई को फिर से जिला मजिस्ट्रेट और एफएसएल टीम के साथ सिरों की तलाश शुरू की. जिसके बाद पुलिस ने इसी जोहड़ के पास दो सिर बरामद हुए हैं.

दोनों सिरों को डीएनए टेस्ट के लिए भेजा
आशंका है कि इनमें एक सिर मृतक महिला और एक सिर उसकी छोटी बेटी का है. एसपी ने बताया कि दोनों सिरों को जांच व डीएनए टेस्ट के लिए रोहतक पीजीआई भेजा जा रहा है. रोंगटे खड़े कर देने वाली और आम आदमी को डरा देने वाली इस घटना की तह तक जाना पुलिस के लिए ना केवल बड़ी चुनौती बल्कि बहुत बङी पहेली बन गई थी.

ये भी पढ़ें- गुरमीत राम रहीम ने बिना शर्त वापस ली अपनी पैरोल की अर्जी

अब मिटेगा जात-पात का भेद, इस खाप के लोग अब अपने नाम के पीछे लिखेंगे गांव का नाम
First published: July 2, 2019, 10:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...