Haryana: ‘ब्लैक फंगस’ की भिवानी में भी दस्तक, एक केस मिलने से हड़कंप, 3-4 और मरीज होने की आशंका

हरियाणा में ब्‍लैक फंगस लगातार पैर पसार रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

हरियाणा में ब्‍लैक फंगस लगातार पैर पसार रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Black Fungus in Haryana ब्लैक फंगस के मरीजों का फ़िलहाल अग्रोहा मेडिकल या रोहतक PGI में इलाज होगा. शुगर के मरीज ब्लैक फंगस की चपेट में आ रहे हैं.

  • Share this:

भिवानी. अभी देश कोरोना महामारी से जूझ रहा था कि ऊपर से इससे भी ख़तरनाक बीमारी ब्लैक फंगस (Black Fungus) ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. इस ख़तरनाक बीमारी ने अब हरियाणा (Haryana) के भिवानी जिले में भी दस्तक देते हुए पैर पसारने शुरू कर दिये हैं. फ़िलहाल भिवानी में एक केस की पुष्टि हुई है. अब स्वास्थ्य विभाग (Health Department) बाकी मामलों की जानकारी जुटाने और इस बीमारी के शिकार रोगियों की तलाश में जुट गया है. भिवानी जिले में ब्लैक फंगस के तीन-चार केस होने की आशंका है.

भिवानी में ब्लैक फंगस का पहला मरीज गांव खरक से मिला है. कोरोना संक्रमण को मात दे चुका 55 वर्षीय व्यक्ति इसका शिकार बना है. संक्रमण की शुरूआत उसे बुखार से हुई थी. ये व्यक्ति शुगर यानी मधुमेह का रोगी भी है. इलाज के चलते यह कोरोना से तो जंग जीत गया, लेकिन कमजोर इम्युनिटी और शुगर के कारण ब्लैक फंगस का शिकार हो गया. उसका पहले भिवानी और फिर हिसार के जिंदल अस्पताल में इलाज चला और अभी उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में रेफर कर भर्ती कराया गया है.

ब्लैक फंगस खतरनाक, जानलेवा बीमारी, अलर्ट

ब्लैक फंगस के इस पहले केस की पुष्टि करते हुए सीएमओ डॉ. सपना गहलावत ने बताया कि ये ख़तरनाक बीमारी है, जिसमें मरीज की जान तक जाने का खतरा बना रहता है. ऐसे में फ़िलहाल इसका इलाज रोहतक पीजीआई या हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में हो रहा है. उन्होंने आगाह किया कि इस बीमारी में झोलाछाप डॉक्टर (Fake Doctor) से दवा ना लें. उन्होंने बताया कि ब्लैक फंगस का केस आने पर सभी अस्पतालों को सूचना देने के लिए अलर्ट किया गया है.
ज्यादा स्टेरॉयड लेने से हो जाता है ब्लैक फंगस

उन्होंने कहा कि शूगर के मरीज कोरोना होने पर और लगातार स्टेरॉयड (Steroid) दवा खाने से ब्लैक फंगस की चपेट में आते हैं. जिसके लक्षण आंखें लाल होना, आंखों में दर्द या शरीर में सूजन होना है. ब्लैक फंगस का केस मिलने पर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप है. डीसी जयबीर सिंह आर्य ने आदेश जारी कर दिये हैं कि बिना डॉक्टर की सलाह के दुकानदार किसी को भी स्टेरॉयड की दवा ना बेचें. ऐसे में सावधानी व समय पर इलाज ही इस जानलेवा फंगस से बचाव है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज