सरकारी अस्पताल में कोरोना मरीज को वार्ड से हटाया, तो पति ने से लगाई गुहार- मंत्री जी बचा लो जान

भिवानी के नागरिक अस्पताल में भर्ती है महिला

भिवानी के नागरिक अस्पताल में भर्ती है महिला

Bhiwani News: भिवानी का चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल फिर सवालों के घेरों में है. कोरोना संक्रमित महिला के पति ने वरिष्ठ डॉक्टर पर इलाज में भेदभाव के आरोप लगाए हैं. पीड़ित ने स्वास्थ्य मंत्री से मदद की गुहार लगाई है.

  • Share this:

भिवानी. डॉक्टर को भगवान का रूप माना जाता है, पर भिवानी में माजरा कुछ और ही है. यहां पर वरिष्ठ डॉक्टर (Senior Doctor) पर चहेतों के लिए अनजान कोरोना संक्रमित महिला का आईसीसी में बेड छीन कर मरने के लिए छोड़ने के गंभीर आरोप लगाए हैं. महिला के पति ने गब्बर कहे जाने वाले सूबे के स्वास्थ्य मंत्री के साथ PMO, CMO व कृषि मंत्री से अपनी पत्नी के लिए इलाज व न्याय की गुहार लगाई है.

बता दें कि आज महामारी में हर कोई अपनी या अपनो की जान बचाने को मारा-मारा फिर रहा है. ऐसे में बेड, ऑक्सीजन व डॉक्टर मिल जाए तो मानों भगवान मिल गया. पर ये धरती के भगवान चहेतों के लिए किसी को मरने के लिए छोड़ दें तो इससे बड़ी शर्म की बात क्या होगी. ऐसी ही कुछ आरोप भिवानी के चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर पर लगे हैं. इस वरिष्ठ डॉक्टर पर जिनकी ज़िम्मेवारी कोरोना संक्रमित मरीज़ों की जान बचाने के लिए बनाए ICU वार्ड के इंचार्ज हैं.

हिसार जिला के सोरखी गांव निवासी अमित ने बताया कि उसकी पत्नी कोरोना होने के चलते भिवानी नागरिक अस्पताल के ICU वार्ड में 9 मई को भर्ती हुई. 13 मई को वार्ड इंचार्ज डॉ रघुबीर ने अपने चहेते को भर्ती करने के लिए उसकी पत्नी का बेड छीन कर उसे व्हीकल चेयर पर बैठा दिया. अमित की मानें तो एक घंटे बाद हंगामा करने पर उसकी पत्नी को दूसरे ICU वार्ड में भर्ती किया, जहां जो बेड दिया वो पहले के मरीज के मल मूत्र से गंदा था.

अमित ने अब 'गब्बर' कहे जाने वाले सूबे के सेहत मंत्री अनील विज, कृषि मंत्री जेपी दलाल के साथ PMO व CMO को ट्वीट कर कार्यवाही व उसकी पत्नी का सही से इलाज करने की मांग की है. वहीं जब इस मामले में सीएमओ डॉ. सपना गहलावत से बात की तो वो पूरे मामले से अनजान थी और वही रटा रटाया जवाब था कि मामले की जांच करेंगे और जो भी दोषी होगा उसके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करेंगे. हालांकि उन्होंने माना कि इस प्रकार किसी मरीज की जान से खिलवाड़ करना गलत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज