लाइव टीवी

ट्रेन में युवक को बनाया बंधक, रेलवे से मदद न मिलने पर गई जान

Jagbir Ghangas | News18 Haryana
Updated: December 10, 2019, 12:10 PM IST
ट्रेन में युवक को बनाया बंधक, रेलवे से मदद न मिलने पर गई जान
ट्रेन में बंधक बना युवक की हत्या!

राजकुमार ने कहा कि उसके फोन से कुछ रिकॉर्डिंग (Recording) मिली है जिससे साबित होता है कि उसको 2 लड़क़ों और एक औरत से जान का खतरा था, जिसकी वजह से उसकी मौत (Death) हुई.

  • Share this:
भिवानी. दवा की निजी कंपनी (Private Company) में काम करने वाले 28 वर्षीय रोहित की मौत (Death) ने एक बार फिर से प्रसाशन (Administration) को कटघरे में खड़ा कर दिया है. सुरक्षा को लेकर सरकार के बड़े-बड़े दावों की पोल एक बार फिर खुलकर सामने आई है, भिवानी (Bhiwani) के रहने वाले नौजवान रोहित को प्रसाशन की लाहपरवाही के चलते अपनी जान गंवानी पड़ी. मौत से पूर्व नौजवान ने रेलवे सहायता कक्ष व पुलिस सहायता कक्ष को फोन लगाकर आप बीती बताने पर भी नहीं मिली प्रसाशन से कोई सहायता. रोहित के पिता ने पुलिस अधीक्षक से मिलकर न्याय की गुहार लगाते हुए कहा कि गुनहागारो के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो.

मृतक रोहित के पिता राजकुमार ने कहा कि वह भिवानी के बिचला बाजार का रहने वाला है और उनका बेटा 28 वर्षीय रोहित एक दवा की निजी कंपनी में कार्यरत था. रोहित अपनी कम्पनी के किसी काम से पुणे गया था. दो दिन पूर्व वह पुणे से दिल्ली के लिए गोवा लिंक एक्सप्रेस ट्रेन वापस आ रहा था तो उस पर कुछ लोगों ने हमला किया. राजकुमार ने कहा कि उसके फोन से कुछ रिकॉर्डिंग मिली है जिससे साबित होता है कि उसको 2 लड़क़ों और एक औरत से जान का खतरा था, जिसकी वजह से उसकी मौत हुई.

उन्होंने कहा कि रोहित के शरीर पर तेजधार हथियार के 3 निशान भी मिले. राजकुमार ने कहा कि उनके पुत्र की मौत की सुचना उन्हें आगरा पुलिस ने दी. रोहित के पिता ने कहा कि उसके फोन से रिकॉर्डिंग मिली है जिसके तहत रोहित ने अपने आप को बचाने के लिए रेलवे सहायता केंद्र व पुलिस सहायता केंद्र से बार-बार गुहार लगाई थी लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हो पाई. यदि समय पर उसके बेटे को सहायता मिल जाती तो शायद उनका बेटा बच जाता.

आगरा कैंट में मिली लाश

झांसी और ग्वालियर के बीच सहायता मांगने के उपरांत भी अगली सुबह उसकी लाश आगरा कैंट में मिली. उन्होनें आरोप लगाया कि उनके पुत्र की हत्या की गई है. उन्होंने भिवानी के पुलिस अधीक्षक से मिलकर मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों को सजा दिलाने की बात भी कही.

सहायता के लिए मांगी थी मदद

राजकुमार के पड़ोस में रहने वाले सुनील ने कहा कि परसों रोहित पूणे भिवानी के लिए ट्रेन में रवाना हुआ था और ट्रेन में ही उसे कुछ असमाजिक तत्वों ने परेशान किया जिसके लिए उसने सहायता के लिए रेलवे प्रसाशन और पुलिस प्रसाशन से मदद भी मांगी. उसे आंशका हो गई थी कि वह लोग उसे मारेंगे उसके पास मिले फोन से पता चलता है. परन्तु उसे कहीं से कोई भी सहायता नहीं मिली जिसके चलते उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ा हमलावरो ने उसे मारकर आगरा में रेलवे ट्रैक पर उसे फेंक दिया. वहां से रोहित के पिता को फोन पर पुलिस ने सुचना दी.ये भी पढ़ें:- रेवाड़ी: युवती की गोली मारकर हत्‍या, रेप की भी आशंका

ये भी पढ़ें:- गैंगस्टर अशोक राठी मर्डर केस: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भिवानी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 12:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर