भिवानी: युवक की हत्या के बाद जातीय रंजिश की आशंका, सैकड़ों दलितों का गांव से पलायन

लोगों के घरों पर लटके ताले

लोगों के घरों पर लटके ताले

Bhiwani News: पुलिस का कहना है कि गांव से पलायन नहीं हुआ है. आरोपी के परिवार के कुछ लोग अपने रिश्‍तेदारों के यहां गए हैं. इस दावे के उलट आरोपी के मोहल्‍ले की सुनसान गलियां कुछ और ही बयां कर रही हैं.

  • Share this:

भिवानी. हरियाणा के भिवानी जिले में एक युवक की हत्या (Murder) से गांव में ऐसा हड़कंप मचा कि आरोपी पक्ष ने जातीय रंजिश की आशंका के चलते रातों-पात गांव से पलायन कर गए. फ़िलहाल गांव की कई गलियां सुनसान हैं और घरों पर ताले लगे हैं. हालांकि, पुलिस (Police) और प्रशासन दोनों पक्षों को समझाने में जुटा है और दावा किया जा रहा है कि गांव में हालात सामान्य हैं.

बता दें कि तिगडाना गांव में 22 वर्षिय युवक मोहित की उसी के खेतों में पानी देते समय उसी के नौकर अंकित ने सिर पर कस्‍सी मार कर मौत के घाट उतार दिया था. मृत मोहित सवर्ण जाति से था और आरोपी अंकित दलित समुदाय से है. मोहित की हत्या के बाद गांव में हड़कंप मच गया. आरोपी पक्ष के लोग जातीय हिंसा के डर के चलते सहम गए और रातों-रात गांव से पलायन कर गए. आरोपी पक्ष के मोहल्ले की गलियां सुनसान पड़ी हैं और सभी के घरों पर ताले लटके हैं.

गांवों से लोगों के पलायन की सूचना पाकर प्रशासन और पुलिस में हड़कंप मच गया. आनन फ़ानन में एसडीएम और डीएसपी गांव पहुंचे. गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर मृतक का अंतिम संस्कार करवाया गया. गांव के पंचों, सरपंच और गणमान्य लोगों की मौजूदगी में दोनों पक्षों की पंचायत कर गांवों में भाईचार व शांति बनाए रखने की अपील की गई.

पुलिस इस परे मामले को मीडिया में देने से बच रही है, ताकि किसी प्रकार की अफ़वाह न फैले और किसी बड़े विवाद से बचा जा सके. डीएसपी वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि गांव से पलायन नहीं हुआ है. आरोपी युवक के परिवार के कुछ लोग अपने रिश्तेदारों के पास गए हैं. वो कोई सामान लेकर भी नहीं गए हैं. डीएसपी ने कहा कि फ़िलहाल दोनों पक्षों की पंचायत कर भाईचारा रखने की अपील की है जिस पर दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर किसी प्रकार का कटाक्ष या कुछ अप्रिय न करने का भरोसा दिया है.
फ़िलहाल गांव में तनाव का माहौल है. हालांकि, मृतक पक्ष की तरफ़ से ऐसी कोई बात या घटना नहीं हुई कि आरोपी पक्ष को पलायन करना पड़े. आशंका ने माहौल को तनावपूर्ण बना दिया है. देर शाम पुलिस ने आरोपी को गिरफ़्तार भी कर लिया. अब देखना होगा कि पंचायत, पुलिस और प्रशासन पलायन करने वाले डरे-सहमे लोगों को कब तक गांव में वापस ला पाता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज