अवैध शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़, लो क्वालिटी की शराब को बनाते थे इम्पोटेंट ब्रांड
Bhiwani News in Hindi

अवैध शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़, लो क्वालिटी की शराब को बनाते थे इम्पोटेंट ब्रांड
भिवानी में एंटी थेफ्ट व्हीकल टीम ने शुक्रवार को गांव हरिपुर पालुवास के एक मकान पर छापामारी कर वहां अवैध रूप से चल रही शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. इस फैक्ट्री के अंदर नकली शराब नहीं बनाई जाती थी, बल्कि लॉ क्वालिटी की अंग्रेजी शराब को इम्पोटेंट ब्रांड की बोतलों में अदला-बदली का गोरखधंधा चल रहा था. पुलिस ने मौके पर एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया, जबकि पुलिस ने इस गोरखधंधे में इस्तेमाल होने वाली हजारों खाली बोतलें, शराब मार्का सहित करीबन 100 अंग्रेजी शराब की पेटियां भी बरामद की. पुलिस ने मौके से एक सफारी गाड़ी भी बरामद की, जिसका इस्तेमाल शराब को सप्लाई किए जाने में किया जाता था. इस मामले में एक आरोपी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर बताया जा रहा है. पुलिस गिरफ्त में आने के बाद मनोज ने बताया कि वो अंग्रेजी शराब के इम्पोटेंट ब्रांड की खाली बोतलें कबाड़ी वाले से खरीद लेते थे और इम्पोटेंट शराब की पेटियों की भी वो खरीद करते थे, ताकि इन पेटियों एवं बोतलों में भरे जाने के बाद उस लॉ क्वालिटी की शराब का पता ना लगे और उन्हें इसके अच्छा दाम मिल जाए. मनोज ने बताया कि एक शराब की पेटी ठेके से खरीदने पर लगभग एक हजार रूपये का खर्च आता था, जबकि उसी शराब को हैवी ब्रांड में बदल देने के बाद उसके उन्हें चार हजार रूपये तक के दाम मिल जाते थे. मनोज ने बताया कि अदला बदली किए जाने के बाद उस नकली हैवी ब्रांड की शराब को दिल्ली में बेचा जाता था.

पुलिस ने मौके पर एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया, जबकि पुलिस ने इस गोरखधंधे में इस्तेमाल होने वाली हजारों खाली बोतलें, शराब मार्का सहित करीबन 100 अंग्रेजी शराब की पेटियां भी बरामद की.

  • Share this:
भिवानी में एंटी थेफ्ट व्हीकल टीम ने शुक्रवार को गांव हरिपुर पालुवास के एक मकान पर छापामारी कर वहां अवैध रूप से चल रही शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. इस फैक्ट्री के अंदर नकली शराब नहीं बनाई जाती थी, बल्कि लॉ क्वालिटी की अंग्रेजी शराब को इम्पोटेंट ब्रांड की बोतलों में अदला-बदली का गोरखधंधा चल रहा था.

पुलिस ने मौके पर एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया, जबकि पुलिस ने इस गोरखधंधे में इस्तेमाल होने वाली हजारों खाली बोतलें, शराब मार्का सहित करीबन 100 अंग्रेजी शराब की पेटियां भी बरामद की. पुलिस ने मौके से एक सफारी गाड़ी भी बरामद की, जिसका इस्तेमाल शराब को सप्लाई किए जाने में किया जाता था. इस मामले में एक आरोपी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर बताया जा रहा है.

पुलिस गिरफ्त में आने के बाद मनोज ने बताया कि वो अंग्रेजी शराब के इम्पोटेंट ब्रांड की खाली बोतलें कबाड़ी वाले से खरीद लेते थे और इम्पोटेंट शराब की पेटियों की भी वो खरीद करते थे, ताकि इन पेटियों एवं बोतलों में भरे जाने के बाद उस लॉ क्वालिटी की शराब का पता ना लगे और उन्हें इसके अच्छा दाम मिल जाए.



मनोज ने बताया कि एक शराब की पेटी ठेके से खरीदने पर लगभग एक हजार रूपये का खर्च आता था, जबकि उसी शराब को हैवी ब्रांड में बदल देने के बाद उसके उन्हें चार हजार रूपये तक के दाम मिल जाते थे. मनोज ने बताया कि अदला बदली किए जाने के बाद उस नकली हैवी ब्रांड की शराब को दिल्ली में बेचा जाता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading