Home /News /haryana /

आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुआ हरियाणा का लाल, पार्थिव शरीर पहुंचा गांव

आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुआ हरियाणा का लाल, पार्थिव शरीर पहुंचा गांव

शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा गांव

शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा गांव

दो बेटियों और एक बेटे के पिता शहीद सोमबीर का पार्थिव शरीर मंगलवार को उनके पैत्रिक गांव मिट्ठी पहुंचा.

वीरों की भूमि भिवानी के एक और लाल ने देश सेवा के लिए अपनी जान दे दी. सिवानी के मिट्ठी गांव निवासी हवलदार सोमबीर कादयान कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में शहीद हो गए. दो बेटियों और एक बेटे के पिता शहीद सोमबीर का पार्थिव शरीर मंगलवार को उनके पैत्रिक गांव मिट्ठी पहुंचा. शहीद सोमबीर कादयान का राज्यकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा. पूरा गांव अपने लाल की शहादत पर गर्व कर रहा है.

4 फरवरी 1982 को जन्मे सोमबीर कादयान ने गांव में ही 10वीं तक की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद वे 18 साल की उम्र में 20 जनवरी को 8 जाट यूनिट में सिपाही के पद पर भर्ती हुए. फिलहाल वे दक्षिण कश्मीर के कुलगांव जिले के तुरीगाय इलाके में तैनात थे. सोमबीर कादयान दो लड़कियों और एक लड़के के पिता थे. उनकी बड़ी बेटी प्रिया 8वीं कक्षा में, स्नेहा 7वीं कक्षा में और बेटा रोहित 5वीं कक्षा में पढ़ता है.

जैसे ही सोमबीर कादयान के शहीद होने की खबर परिवार वालों और फिर गांव वालों की लगी तो सभी दुखी हो गए, लेकिन साथ ही देश सेवा के लिए अपनी जान देने पर सभी ने सोमबीर की शहादत पर गर्व किया. शहीद सोमबीर के भाई संजीव, चचेरे भाई मांगेराम तथा सरपंच रोहताश ने बताया कि पूरे गांव को सोमबीर की शहादत पर गर्व है. चचेरे भाई ने प्रशासन से शहीद के परिवार की मदद करने तथा उनकी याद में गांव में स्टेडियम व पार्क बनवाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें:-

राजकुमार सैनी और बीजेपी आपस में मिले हुए हैं: यशपाल मलिक

हमारी पार्टी की सिर्फ एक ही सोच है, ‘प्रदेश में बदलाव लाना’: दुष्यंत चौटाला

नवीन जिंदल ने भाजपा में जाने की अफवाहों को विराम देते हुए खुद को कांग्रेस का सिपाही बताया

Tags: Air Strike, Balakot, Bhiwani news, Haryana news, Pulwama attack, Surgical Strike

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर