Home /News /haryana /

भिवानी में फिर आमने-सामने किसान और पुलिस, किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की

भिवानी में फिर आमने-सामने किसान और पुलिस, किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की

हरियाणा का भिवानी इन दिनों किसान आंदोलन का प्रमुख सेंटर बना हुआ है.

हरियाणा का भिवानी इन दिनों किसान आंदोलन का प्रमुख सेंटर बना हुआ है.

Haryana Farmers: भिवानी में भाजपा की मीटिंग का विरोध करने पहुंचे किसानों को पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर रोका, पुलिस और किसान आमने-सामने आये और दोनों के बीच जमकर धक्कामुक्की हुई, आखिर में किसानों को वहां से लौटना पड़ा.

भिवानी. हरियाणा के भिवानी में आज यानि शनिवार को फिर एक बार पुलिस और किसान भाजपा के कार्यक्रम को लेकर आमने-सामने हो गये. किसानों को रोकने लिए पुलिस ने बैरिकेडिंग की, जिसे किसानों ने तोड़ना चाहा, लेकिन किसानों से कहीं ज़्यादा मौजूद पुलिस किसानों को वहीं रोक दिया. कृषि क़ानूनों के विरोध में किसान संगठन 11 महीनों से आंदोलन कर रहे हैं, जिसे लेकर किसान संगठन बार-बार भाजपा और जजपा के कार्यक्रमों का विरोध कर रहे हैं.

आज जब किसानों को खबर मिली कि प्रेक्षा विहार में भाजपा की बैठक चल रही है तो दर्जनों किसान विरोध के लिए पहुंच गये. किसानों के आने की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस ने बैरिगेट्स लगा किसानों को रोक दिया. किसानों ने बैरिकेड्स तोड़ने के प्रयास किये पर किसानों से ज़्यादा पुलिस होने पर किसानों और जवानों में खूब धक्का-मुक्की हुई, लेकिन पुलिस ने किसानों को रोक दिया.

किसान नेता कमल प्रधान व गंगाराम श्योराण ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर वो भिवानी में भाजपा व जजपा के हर प्रोग्राम का विरोध कर रहे हैं. कृषि क़ानून रद्द होने तक विरोध करते रहेंगे. उन्होने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार पहले जाति व धर्म के नाम पर लोग को लड़ाती रही और अब कृषि क़ानूनों को रद्द करने की बजाय जवान व किसान को लड़ा रही है. किसान नेताओं ने कहा कि सरकार को चाहिए की वो पार्टी की बजाय जनता के हित में काम करे.

वहीं पुलिस अधिकारी एसआई सतीश ने बताया कि किसान भाजपा की बैठक का विरोध करने आए थे, लेकिन उन्हें रोक दिया गया और वो अपना विरोध दर्ज करवाकर वापस लौट गए हैं. कृषि क़ानूनों को रद्द करवाना किसानों के लिए और ये क़ानून लागू करवाना सरकार के लिए गले की फांस बन गया है. कभी किसान व सरकार तो कभी किसान व जवान आमने-सामने हो रहे हैं.

Tags: Bhiwani, Haryana Farmers, Haryana news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर